Delhi Violence: अंकित शर्मा के पिता ने FIR में कहा- बेरहमी से हुई बेटे की हत्या

अंकित की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कई बड़े खुलासे हुए हैं। इससे पता चला है कि अंकित शर्मा के शरीर के हर हिस्से पर चाकू से वार किया गया। सबसे अधिक वार उनके सीने और पेट पर हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट बताती है कि अंकित शर्मा की हत्या बेहद बेरहमी से की गई थी।नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाकों में फैली हिंसा अब बेशक थम गई है, लेकिन इसके निशान शायद ही कभी खत्म हों। दंगाइयों की क्रूरता का शिकार बने इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मचारी अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ऐसी बातें सामने आई हैं, जो किसी को भी हैरान कर सकती हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार, अंकित शर्मा के शरीर पर अनगिनत बार चाकू से वार किया गया है। उनके सीने और पेट पर भी चाकू के निशान पाए गए हैं।

अंकित की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कई बड़े खुलासे हुए हैं। इससे पता चला है कि अंकित शर्मा के शरीर के हर हिस्से पर चाकू से वार किया गया। सबसे अधिक वार उनके सीने और पेट पर हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट बताती है कि अंकित शर्मा की हत्या बेहद बेरहमी से की गई थी।

अंकित शर्मा के पिता ने उनकी हत्या को लेकर एफआईआर दर्ज कराई है। एफआईआर के अनुसार इस मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 201, 365 और 34 के तहत केस दर्ज किया गया है। एफआईआर में अंकित के पिता ने अपना दर्द बयां किया है, इसमें लिखा है, अंकित उनका छोटा बेटा था। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ भजनपुरा से करावल नगर तक जाने वाली सड़क पर कई दिनों से प्रदर्शन चल रहा था। इस दौरान फायरिंग, पत्थरबाजी और आगजनी की कई घटनाएं सामने आईं। एफआईआर में आम आदमी पार्टी से निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन का नाम भी शामिल है।

अंकित के पिता ने आरोप लगाया है कि ताहिर हुसैन ने अपने घर पर गुंडों को इकट्ठा किया हुआ था, जो दफ्तर के ऊपर से पत्थरबाजी, फायरिंग कर रहे थे। इन लोगों ने पेट्रोल बम भी फेंके। जिससे ना केवल तनाव बल्कि आम नागरिकों में डर का माहौल भी पैदा हुआ। उन्होंने इसमें कहा है कि अंकित शाम पांच बजे दफ्तर से आकर घर का सामान लेने के लिए बाहर गए थे। लेकिन वो काफी देर तक नहीं लौटे। जिसके बाद परिवार उनकी तलाश करते हुए खजूरी थाने, दयालपुर थाने और आसपास के अस्पतालों में गया, लेकिन कुछ पता नहीं चला। फिर रात को इंतजार करने के बाद अंकित की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। फिर किसी लड़के ने बताया कि अंकित को पास रहने वाले दो लड़कों के साथ गया था।

अंकित के पिता ने आगे कहा, जब हमने उस लड़के (जिसे अंकित के साथ देखा गया था) के बारे में पूछताछ की तो बताया गया कि चांदबाद पुलिया की मस्जिद से किसी लड़के को मारकर चांदबाग नाले में ऊपर से फेंका गया है। फिर गोताखोरों की मदद से नाले में तलाश की गई, जहां से अंकित का शव बरामद हुआ। उनके पूरे शरीर पर चोट के निशान मिले। अंकित की पहचान छिपाने के लिए उनके चेहरे और अन्य अंगों पर तेजाब भी डाला गया था। अंकित के पिता ने ये भी कहा है कि उनके बेटे की हत्या के पीछे ताहिर हुसैन और उसके दफ्तर में एकत्रित हुए गुंडे शामिल हैं।

दिल्ली हिंसा को बढ़ाने और हत्या के आरोप में दिल्ली पुलिस ने ताहिर हुसैन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। जिसके बाद आम आदमी पार्टी ने भी हुसैन को निलंबित कर दिया। दिल्ली पुलिस ने आगजनी, हत्या और हिंसा फैलाने का केस दर्ज किया है। दयालपुर थाने में दर्ज किए गए केस के बाद ताहिर हुसैन के खजूरी इलाके में स्थित घर को सील कर दिया गया है। ताहिर हुसैन के इसी घर से पेट्रोल बम, पत्थर, गुलेल समेत ऐसे कई सामान मिले थे, जिसका हिंसा फैलाने से संबंध था।

जानकारी के लिए बता दें दिल्ली हिंसा अब बेशक थम गई है, लेकिन उसकी तबाही की तस्वीरें अब धीरे-धीरे सामने आ रही हैं। अभी तक की जानकारी के मुताबिक हिंसा के चलते 38 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं अभी तक पुलिस के अनुसार, 48 एफआईआर दर्ज की गई हैं और 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।