अवैध संबंध के शक में पत्नी के साथ पति ने कर दिया ये


कानपुर के नजदीक बिल्हौर कस्बे के नसिरापुर गांव में अवैध संबंधों के शक में बीते बुधवार रात एक शख्स अपनी पत्नी को खेतों पर ले गया और फिर उसके साथ वहां ऐसा काम किया जिसके बारे में जानकर आप भी चौंक पड़ेंगे।

इस कार्रवाई को अंजाम देने से पहले शख्ख ने पत्नी को अपने विश्वास में लिया था और उसे इस बात की भनक ही नहीं लगने दी कि वह उसके साथ ऐसा कुछ करने जा रहा है।

जी हां, शख्स ने फावड़ा लेकर अपनी पत्नी के टुकड़े-टुकड़े कर डाले। इसके बाद आरोपी ने क्षतविक्षत शव को खेत में ही दफनाने की कोशिश की। लेकिन देर रात तक जब दोनों घर न पहुंचे तो ग्रामीण खोजबीन करते खेत पर पहुंच गए। जहां लोगों ने पूरा नजरा देख लिया। मानों सबकी आंखें चौंधिया गई हो।

गांव वालों ने बिना देरी किए घटना की जानकारी पुलिस को दी जिसके बाद घटनास्थल पर पहुंचकर पुलिस ने शख्स को गिरफ्तार कर लिया। वह अवैध संबंधों के शक में अक्सर पत्नी से विवाद करता था।

जानकारी के मुताबिक अधेड़ रामनाथ रैदास अपनी पत्नी तारावती (48), बड़े बेटे सूरज, बहू ममता और छोटे बेटे दीपक के साथ नसिरापुर गांव में रहते हैं। रामनाथ रैदास पहले आगरा में सिलाई का काम करता था, लेकिन बीते कुछ माह से वह गांव में रहकर खेती-बाड़ी कर रहा था।

बीते बुधवार की दोपहर बाद रामनाथ पत्नी तारावती के साथ खेतों पर निराई करने गया था। इसी दौरान पति-पत्नी में किसी बात को लेकर झगड़ा शुरू हो गया।

इसी बीच उसने गुस्से में आकर फावड़े से पत्नी पर हमला कर दिया। रामनाथ ने अपनी पत्नी के सिर पर फावड़े से कई वार किए। जिससे तारावती ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। खेत गांव से करीब दो किलोमीटर दूर था।

खेत तक पहुंचने के लिए दो जंगल बीच में होने से ग्रामीणों को घटना की जानकारी नहीं हो सकी। देर शाम आठ बजे तक सास-ससुर के घर न लौटने पर बहू ममता ने पड़ोसी को इस बात की जानकारी दी।

वह रात को कई ग्रामीणों समेत देर रात तकरीबन 11 बजे तलाश में घटनास्थल वाले खेत पर पहुंचे। यहां रामनाथ तारावती के शव को जमीन में दफनाने की कोशिश कर रहा था। पूरा नजारा देखकर सब सन्न रह गए और तुरंत इसकी सूचना 100 नंबर पर पुलिस कंट्रोलरूम को दी।

पुलिस पहुंची और शव का पंचायतनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। मौके से हत्या में इस्तेमाल किया गया फावड़ा भी बरामद कर लिया गया।

लेकिन इस घटना के बाद पति रामनाथ की मानसिक हालत बिगड़ गई। पुलिस हिरासत में वह बार-बार कोतवाली के महिला और पुरुष सिपाहियों से बीड़ी पिलाने की बात कह रहा था।

घटना के बारे में पूछा गया तो रामनाथ ने कहा कि लंबी कहानी है बैइठौ तौ बताएं, बीड़ी लैइके आव, फिर बैठव आय। पड़ोसियों ने बताया कि हत्यारा रामनाथ बेहद शक्की किस्म का आदमी था। दो बेटों की मां तारावती पर वह आएदिन तरह-तरह के आरोप लगाकर कलह करता था। जबकि तारावती सौम्य स्वभाव की महिला थीं।