दुनिया में कई ऐसे रीति रिवाज हैं जिस पर लोग यकीन नहीं कर पाते। हमारे देश में ऐसा ही एक गांव है, जहां हर आदमी को दो शादियां करनी पड़ती हैं। दो शादियां करना इस गांव के लोगों की मजबूरी होती है। जानिए हैरान करने वाले गांव की कहानी।

राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक छोटा सा गांव देरासर है। इस गांव में महज 70 मुस्लिम परिवार ही रहते हैं। लेकिन इस गांव में शादी की परंपरा बेहद निराली है। क्योंकि यहां हर आदमी को दो शादियां करनी ही पड़ती है।

इस गांव में पहली शादी के बाद लोग दूल्हे की दूसरी शादी करवाते हैं। दूसरी शादी होने के पीछे कोई मामूली वजह नहीं है।

इस गांव में पहली शादी से कभी भी किसी की संतान नहीं हुई है। इसलिए यहां के दूल्हों की दूसरी शादी करवाई जाती है।

गांव वालों का मानना है कि दूसरी पत्नी से ही संतान सुख मिलता है। इस परंपरा को गांव के लोग खुदा की मेहर बताते हैं। खास बात ये है कि इस गांव में पहली पत्नी को अपने पति की दूसरी पत्नी ये कोई समस्या नहीं होती।

लेकिन इस गांव में कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने अपनी पहली पत्नी के होते हुए दूसरी से शादी नहीं की और इन लोगों की कोई संतान नहीं है।