Home > Sports > Cricket > इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी मैच में टीम इंडिया ने रचा इतिहास

इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी मैच में टीम इंडिया ने रचा इतिहास

winning_team-india-against-england-virat-kohliनई दिल्ली- भारत और इंग्लैंड के बीच खेली गई पांच टेस्ट मैच की सीरीज के आखिरी मैच में टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया है। चेन्नई में खेले गए पांचवें और आखिरी टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को एक पारी और 75 रन से शिकस्त दी। इसके साथ ही विराट की सेना ने 4-0 से सीरीज अपने नाम कर ली है। इंग्लैड के खिलाफ क्रिकेट इतिहास में ये पहला मौका है जब भारत ने उसे 4-0 मात दी है। इस मुकाबले में तिहरा शतक जमाने वाले करुण नायर को मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया और कप्तान विराट कोहली मैन ऑफ द सीरीज रहे।

भारत की ऐतिहासिक जीत
इस मुकाबले में इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 477 रनों का स्कोर खड़ा किया था। इसके जवाब में भारत ने अपने टेस्ट इतिहास का सबसे बड़ा 759 रनों का विशाल स्कोर बनाया। इस आधार पर भारतीय टीम को 282 रनों की बढत हासिल हुई थी। लेकिन खेल के पांचवें दिन इंग्लैंड की पूरी टीम 207 रन पर ऑल आउट हो गई। इस मुकाबले में भारत की तरफ से करुण नायर ने तिहरा शतक लगाकर इतिहास रचा था।

जडेजा ने झटके 10 विकेट
इस मुकाबल की दो पारियों में भारत के स्टार गेंदबाज रवींद्र जडेजा ने 10 विकेट झटके। पहली पारी में तीन और दूसरी पारी में उन्हें सात विकेट मिले। तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा और उमेश यादव को तीन-तीन विकेट मिले। जबकि अमित मिश्रा को दो और अपने होमग्राउंड पर खेल रहे आर अश्विन को एक विकेट मिला।

चेन्नई टेस्ट का पांचवां दिन
खेल के पांचवें और आखिरी दिन इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक (3) और कीटन जेनिंग्स (9) ने पारी को 12 रन से आगे बढ़ाया। दोनों ने अच्छी बल्लेबाजी की और लंच तक कोई विकेट नहीं गिरा। कुक और जेनिंग्स लंच तक नॉटआउट रहे और इंग्लैंड ने 97 रन बना लिए। लेकिन लंच के बाद स्पिन गेंदबाज रवींद्र जडेजा की फिरकी ने ऐसा कमाल दिखाया की एक के बाद एक इंग्लैंड का बल्लेबाज आउट होता गया। इंग्लैंड ने जल्दी ही तीन विकेट खो दिए। . कप्तान कुक 49 के स्कोर पर आउट हुए और जेनिंग्स ने 54 रनों की पारी खेली, इसके बाद 6 के स्कोर पर आउट हुए। टी-ब्रेक के बाद जडेजा ने फिर करिश्माई गेंदबाजी की और 192 और 193 के स्कोर पर विकेट झटकते हुए अपने विकेटों की संख्या 5 कर ली। 23 रन पर खेल रहे बेन स्टोक्स को तिहरा शतक जड़ने वाले करुण नायर के हाथों कैच करा दिया। फिर लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने लियाम डॉसन को बोल्ड कर दिया। इंग्लैंड ने 196 रन पर अपना सातवां विकेट खो दिया। लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने लियाम डॉसन को बोल्ड कर सातवां झटका दिया। इंग्लैंड का आठवां विकेट उमेश यादव ने लिया,जबकि आखिरी दोनों विकेट रवींद्र जडेजा ने झटके।

भारत सीरीज 4-0 से जीता
पांच टेस्ट मैच की सीरीज का पहला मुकाबला राजकोट में खेला गया था। जो ड्रॉ रहा था. विशाखापटनम में टेस्ट में भारत ने 246 रनों से जीत दर्ज की थी। मोहाली में इंग्लैंड को आठ विकेट से हाराया था। मुंबई टेस्ट में विराट सेना ने एक पारी और 36 रन से जीत दर्ज की। इसके बाद चेन्नई में भी भारत एक पारी और 75 से जीता।

भारत ने बनाया सर्वोच्च स्कोर
टीम इंडिया ने टेस्ट मैचों का अपना एक पारी का सबसे बड़ा स्कोर बनाया.इससे पहले उसका सर्वोच्च स्कोर 726 रन श्रीलंका के खिलाफ था। इससे पहले मुरली विजय 29, अश्विन 67 रन, जडेजा 51 रन बनाकर आउट हुए। इंग्लैंड ने पहली पारी में 477 रनों का स्कोर खड़ा किया था। इंग्लैंड की तरफ से स्टुअर्ट ब्रॉड दो और लियाम डॉसन ने दो विकेट झटके। इसके अलावा मोईन अली, बेन स्टोक्स, आदिल राशिद को एक-एक विकेट मिले. किसी सीरीज में यह नौवीं बार हुआ है, जब टीम इंडिया की तरफ से दो दोहरे शतक लगे हैं। इसी सीरीज में विराट कोहली भी दोहरा शतक लगा चुके हैं।

चेन्नई टेस्ट मैच का चौथा दिन
चेन्नई टेस्ट मैच का चौथा दिन दोनों ही टीमों के लिए महत्वपूर्ण था. भारतीय टीम ने चार विकेट पर 391 रनों से आगे खेलना शुरू किया। करुण नायर और मुरली विजय ने पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने 63 रन जोड़े. नायर ने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक पूरा किया। उन्होंने अपनी इस पारी में शानदार 8 चौके और एक छक्का लगाया। लेकिन कुछ देर बाद विजय 29 के स्कोर पर अपना विकेट दे बैठे। भारतीय टीम ने 435 रन पर पांचवां विकेट खोल दिया। इसके बाद अश्विन और नायर ने एक अच्छी साझेदारी की। लंच तक भारत का स्कोर पांच विकेट पर 463 रन था। चायकाल के बाद अश्विन 67 रन बनाकर स्टुअर्ट ब्रॉड का शिकार बने। उन्होंने नायर के साथ 181 रनों की साझेदारी की. रवींद्र जडेजा ने 55 गेंदों में 51 रनों (एक चौका, दो छक्के) की पारी खेली। उन्होंने नायर के साथ 138 रन जोड़े।

लंच के बाद भारतीय बल्लेबाजी
लंच के बाद भी करुण नायर और अश्विन की शानदार बल्लेबाजी जारी रही। दोनों के बीच शतकीय साझेदारी हुई। अश्विन ने 116 गेंदों में करियर की 10वीं फिफ्टी पूरी की। हालांकि इस बीच नायर कई बार लकी भी रहे. टी-ब्रेक तक भारत का कोई विकेट नहीं गिरा और 147 रनों की साझेदारी कर ली। भारतीय टीम ने पांच विकेट पर 582 रन बना लिए। नायर 195 रन और अश्विन 54 रन पर नाबाद लौटे। आखिरी सेशन में नायर शानदार चौका जड़कर अपने करियर का पहला दोहरा शतक लगाया।

तीसरे दिन लोकेश राहुल रहे टॉप स्कोरर
खेल का तीसरा दिन लोकेश राहुल के नाम रहा। राहुल महज एक रन से अपने करियर का पहला दोहरा शतक लगाने से चूके। उन्हें 199 के स्कोर आदिल राशिद ने आउट किया। राहुल ने 311 गेंदों पर 199 रन बनाए। राहुल ने अपनी पारी में 16 चौके और 3 छक्के जड़े। उन्होंने 171 गेंदों में करियर का चौथा शतक लगाया, जबकि 96 गेंदों में दूसरी फिफ्टी पूरी की थी। नायर के साथ राहुल ने 161 रनों की साझेदारी की।

चेन्नई टेस्ट मैच का तीसरा दिन
चेन्नई टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारत ने शनिवार के स्कोर 60 रन से आगे खेलना शुरू किया। लोकेश राहुल (30) और पार्थिव पटेल (28) ने शुरुआत से इंग्लैंड के गेंदबाजों पर दबाव बनाया और मैदान के चारों तरफ शानदार शॉट्स खेले। इस दौरान दोनों ने हाफ सेंचुरी लगाई। लेकिन लंच के कुछ समय पहले शानदार बल्लेबाजी कर रहे पार्थिव पटेल को मोईन अली अपने जाल में फंसाने में कामयाब रहे। पटेल ने मोईन को आगे निकलकर मिडविकेट के ऊपर से मारने की कोशिश की, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। पटेल ने 112 गेंदों में सात चौकों की मदद से 71 रन बनाए। पार्थिव-राहुल के बीच 152 रन की साझेदारी की। लंच तक टीम इंडिया ने एक विकेट पर 173 रन बना लिए। लोकेश राहुल (89) और चेतेश्वर पुजारा (11) पर नाबाद रहे। दोनों के बीच 21 रनों की साझेदारी हुई।

लंच के बाद पुजारा और कोहली हुए आउट
लंच के बाद टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा, शानदार फॉर्म में चल रहे चेतेश्वर पुजारा 16 के स्कोर पर एक खराब शॉट खेले और अपना विकेट दे बैठे। उन्हें बेन स्टोक्स ने आउट किया। राहुल और पुजारा के बीच 29 रनों की साझेदारी हुई। कप्तान विराट कोहली से सुनील गावस्कर का 45 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ने की उम्मीद थी, लेकिन वो भी 15 रन बनाकर आउट हुए. कोहली को स्टुअर्ट ब्रॉड ने आउट किया। टी-ब्रेक के बाद लोकेश राहुल ने करुण नायर के साथ टीम इंडिया की पारी को तीन विकेट पर 256 रन से आगे बढ़ाया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी करते हुए टीम इंडिया को अच्छी स्थिति मे ला दिया। राहुल ने करुण नायर के साथ 161 रन की साझेदारी की और स्कोर को 350 के पार पहुंचा दिया। लेकिन राहुल 199 रन पर आउट हो गए। टीम इंडिया ने आखिरी सेशन में 135 रन बनाए।

सस्ते में निपटे कोहली
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पहली पारी में सिर्फ 15 रन बनाकर आउट हुए। इस तरह वो सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले सुनील गावस्कर (774 रन) का 45 साल पुराना रिकॉर्ड को तोड़ने से चूक गए। लेकिन कोहली के पास दूसरी पारी में इस रिकॉर्ड को तोड़ने का मौका है। कोहली पिछले मैच में ही एक कैलेंडर वर्ष में तीन दोहरे शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। भारतीय फैंस को कोहली से एक बड़ी पारी की दरकार है।

चेन्नई टेस्ट का दूसरा दिन
खेल के दूसरे दिन भी इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने खूब दम दिखाया। खासकर पुछ्ल्ले बल्लेबाजों ने इंग्लैंड को बड़े स्कोर तक पहुंचने में अहम योगदान दिया। इंग्लैंड ने दूसरे अपनी पारी को 284 के स्कोर से आगे बढ़ाया लेकिन अभी सिर्फ तीन ही जुडे थे कि अश्विन ने बेन स्टोक्स (6) को आउट कर भारतीय टीम में खुशी लहर दौड़ा दी। इसके कुछ देर बाद जॉस बटलर (5) के स्कोर पर ईशांत शर्मा ने पवेलियन की राह दिखाई। इस तरह इंग्लैंड के 300 के स्कोर पर छह विकेट गिरे। कुछ देर बाद तेज गेंदबाज उमेश यादव ने शतकवीर मोईन अली को 146 के स्कोर पर आउट कर इंग्लैंड को बड़ा झटका दिया।

डॉसन और राशिद ने खेली शानदार पारी
इसके बाद लियाम डॉसन और आदिल राशिद ने लंच तक 31 रन जोड़कर कोई विकेट नहीं गिरने दिया। लंच तक इंग्लैंड का स्कोर सात विकेट पर 352 रहा। लियाम डॉसन (27) और आदिल राशिद (8) नाबाद लौटे। दोनों बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों का डट कर सामना किया और स्कोर को 400 के पार पहुंचा दिया। दोनों के बीच 108 रन की की साझेदारी हुई। आखिरी में तेज गेंदबाज उमेश यादव ने राशिद को आउट किया और भारतीय टीम को आठवीं सफलता दिलाई। इंग्लैंड की पारी लंबे इंतजार के बाद 477 रन पर सिमटी। लियाम डॉसन 66 रन बनाकर नाबाद लौटे। रवींद्र जडेजा ने तीन, ईशांत शर्मा और उमेश यादव ने दो-दो विकेट, वहीं आर अश्विन और अमित मिश्रा ने एक-एक विकेट लिया।

चेन्नई टेस्ट मैच का पहला दिन
चेन्नई टेस्ट मैच का पहला दिन इंग्लैंड के बल्लेबाज मोईन अली के नाम रहा। अली ने अपने टेस्ट करियर का 5वां शतक लगाया। इस मुकाबल में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन उनकी शुरुआत बेहद खराब रही। इंग्लैंड के युवा बल्लेबाज कीटन जेनिंग्स 1 के स्कोर तेज गेंजबाज ईशांत शर्मा ने पार्थिव पटेल के हाथों कैच आउट कराया। इंग्‍लैंड की टीम ने पहले सेशन में धीमी बल्‍लेबाजी की। 29 ओवर्स में महज 68 रन बने। पहले 10 ओवर में तो महज 13 रन बने थे। इसके कुछ देर बाद इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक को रवींद्र जडेजा ने 10 के स्कोर पर पवेलियन भेजा। दो विकेट जल्दी आउट होने के बाद इंग्लैंड की पारी को जो रूट और मोईन अली ने संभला। दोनों बल्लेबाजों ने संभलकर बल्लेबाजी की दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए महत्वपूर्ण 146 रनों की साझेदारी हुई। रूट अपने करियर का 12वां शतक लगाने से चूक गए। उन्हें भी जडेजा ने पवेलियन की राह दिखाई। [खेल डेस्क]




Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .