दाल की पैदावार बढ़ाने के लिए भारत लेगा मोजांबिक की मदद ! - Tez News
Home > Business News > दाल की पैदावार बढ़ाने के लिए भारत लेगा मोजांबिक की मदद !

दाल की पैदावार बढ़ाने के लिए भारत लेगा मोजांबिक की मदद !

Pulse research centerनई दिल्ली- देश में दाल की कमी न हो और लोगों को सस्ते दामों पर दाल मिल सके इस पर सरकार तेजी से काम कर रही है। भारत अब मोजांबिक में दालों की पैदावार करवाएगा और इसके लिए मोजांबिक की हर तरह से मदद करेगा।

Related: यह नेताजी बोले अगर दाल महंगी है तो इसकी जगह मुर्गा खाएं

भारत में दाल की कमी को पूरा करने के लिए भारत मोजंबिक में अरहर और उड़द दाल उगाएगा फिर आयात करेगा। मोजंबिक के साथ करार होने पर अगले पांच सालों में दाल का आयात मौजूदा 1 लाख टन से बढ़ाकर दो लाख टन करने की योजना है।

मोजांबिक में हर साल करीब 60 हजार टन अरहर दाल होती है। बताया जा रहा है कि भारत को दालें मुहैया कराने के लिए मोजांबिक हर साल 25 हजार टन तक दालों की पैदावार बढ़ाएगा।

Related: अब 110 रूपये किलो में मिलेगी विदेशी दाल

भारत में हर साल 2.46 करोड़ टन दालों की खपत है। जबकि देश में दालों की सालाना पैदावार महज 1.73 लाख टन ही है। हर साल 90 लाख टन दाल की मांग बढ़ रही है। इस तरह मांग के मुकाबले देश में 73 लाख टन दाल की कमी है।

देश में दालों की कमी को पूरा कैसे किया जाए इसके लिए भारत की तरफ से दो सदस्यीय टीम म्यांमार और मोजांबिक का पहले ही दौरा कर चुकी है।

Related: अब दालों के दाम 120 रुपए से ज्यादा नहीं होंगे- केंद्र

दालों की कमी को लेकर आज फाइनेंशियल स्टैबिलिटी एंड डेवलपमेंट काउंसिल की बैठक में भी चर्चा हुई। इस बैठक की अध्यक्षता वित्त मंत्री अरूण जेटली ने की। बताया जा रहा है कि देश में इस साल दाल की पैदावार 170 लाख टन से बढ़कर 200 लाख टन से ज्यादा होने के आसार हैं।

दाल की पैदावार बढ़ाने और सस्ती करने के लिए भारत लेगा मोजांबिक की मदद !
Why Indian govt needs to raise pulses production and not rely on hiking imports from Mozambique

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com