सलमान खान को इंदौर से क्यों चुनाव लड़वाना चाहती है कांग्रेस !

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से करीना कपूर को चुनाव में उतारे जाने की खबरों के बीच कांग्रेस अब बॉलीवुड के ‘बजरंगी भाईजान’ सलमान खान को इंदौर से चुनाव लड़ाने की तैयारी में है।

बॉलीवुड के ‘दबंग’ खान को कांग्रेस प्रदेश सचिव राकेश यादव ने बयान दिया है कि सलमान के नाम पर कांग्रेस पार्टी में मंथन चल रहा है। आखिर कांग्रेस सलमान खान को क्यों चुनाव लड़वाना चाहती है, इसके पीछे हैं ये पांच वजह-

जन्मस्थल

बॉलीवुड के सुपर स्टार सलमान खान का जन्म इंदौर में ही हुआ। सलमान खान ने अपने बचपन का काफी समय इंदौर में बिताया है। सलमान खान भी इंदौर आते-जाते रहे हैं और कई मौकों पर उन्होंने अपने इंदौर प्रेम को भी जाहिर किया है।

युवाओं को मिल सकता है बॉलीवुड में चांस

लोगों का मानना है कि अगर सलमान खान यहां से चुनाव लड़ते हैं और जीत जाते हैं तो यहां के युवाओं को बॉलीवुड में चांस मिल सकता है।

इस बात की पुष्टि खुद कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश यादव करते हैं। राकेश यादव का कहना है कि सलमान खान चुनाव लड़ेंगे तो इंदौर में युवाओं को फिल्म इंडस्ट्री का लाभ मिलेगा।

सोशल मीडिया पर सक्रियता

कांग्रेस पार्टी जानती है कि आज का जमाना सोशल मीडिया का है। ऐसे में अगर बीजेपी को लोकसभा चुनाव में टक्कर देनी है तो ऐसे उम्मीदवार को चुनाव में उतारना होगा जो सोशल मीडिया पर सक्रिय रहता हो और उसके फॉलोअर की संख्या भी अच्छी खासी हो।

इस पैमाने पर सलमान खान खरे उतरते हैं। सलमान खान के ट्विटर पर 35.7 मिलियन फॉलोअर्स हैं। जबकि सलमान को फेसबुक पर 36 करोड़ 1 लाख 95 हजार लोग फॉलो करते हैं।

युवाओं में क्रेज

इंदौर के युवाओं में सलमान खान को लेकर जबरदस्त क्रेज है। इस बात को भी कांग्रेसी भलीभांति जानते हैं। सलमान की एक अपील पर युवा उनकी और उनकी दोस्तों की फ्लॉप हो रही फिल्मों को भी 100 करोड़ का आंकड़ा पार करा देते हैं।

सुमित्रा महाजन को टक्कर दे सकता है सलमान का फेस

ऐसा माना जा रहा है कि इंदौर लोकसभा सीट से लगातार सांसद चुनी जा रहीं लोकसभा की स्पीकर सुमित्रा महाजन को बीजेपी नौवीं बार फिर से मैदान में उतार सकती हैं।

ऐसे में कांग्रेस को एक ऐसे चेहरे की जरूरत है जो उनको टक्कर दे सके। ऐसे में सलमान कांग्रेस नेताओं की उम्मीदों पर खरे उतर सकते हैं क्योंकि सलमान का युवाओं में क्रेज तो है ही साथ ही भीड़ भी उनकी ओर खुद ही चली आती है।