इरफान ने ट्वीट किया, ‘नस्लवाद किसी के रंग से जुड़ा हुआ ही नहीं है। किसी सोसायटी में धर्म देखकर घर ना खरीदने दिया जाए तो यह भी नस्लवाद का ही हिस्सा है।’ उनके इस ट्वीट को अब तक 8 हजार से ज्यादा बार रिट्वीट किया जा चुका है।

अमेरिका में अश्वेत शख्स जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद कई देशों में नस्लवाद के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए। सोशल मीडिया पर कई लोगों ने अपने अनुभव शेयर किए। क्रिकेट में भी नस्लवादी टिप्पणी करने के बारे में कुछ क्रिकेटरों ने अपनी बात रखी।

अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान भी इस लड़ाई में आगे आए हैं लेकिन उन्होंने ‘धर्म के आधार पर नस्लवाद’ की बात कही है।

भारत के लिए 150 से ज्यादा इंटरनैशनल मैच खेलने वाले इरफान पठान ने मंगलवार को एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने धार्मिक आधार पर नस्लवाद की बात कही। उन्होंने लिखा कि अगर कोई धर्म देखकर घर ना खरीदने दे तो यह भी नस्लवाद होगा।

35 वर्षीय इरफान ने ट्वीट किया, ‘नस्लवाद किसी के रंग से जुड़ा हुआ ही नहीं है। किसी सोसायटी में धर्म देखकर घर ना खरीदने दिया जाए तो यह भी नस्लवाद का ही हिस्सा है।’ उनके इस ट्वीट को अब तक 8 हजार से ज्यादा बार रिट्वीट किया जा चुका है।