Devendra_Fadnavisमुंबई- इशरत जहाँ के लश्कर से जुड़े होने की खबर के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने शन‍िवार को कहा कि इशरत जहां के नाम पर शुरू की गईं एंबुलेंस सेवाएं बंद होनी चाहिए, हम इस बारे में जानकारी जमा कर रहे हैं। वहीँ उन्होंने कहा कि जो लोग भी इशरत जहां के नाम से एंबुलेंस सेवा चला रहे हैं, उन्हें इसे बंद कर देना चाहिए।

मुख्‍यमंत्री से सवाल किया गया था कि कुछ एनसीपी के नेता इस एंबुलेंस सर्विस का समर्थन कर रहे हैं तो जवाब में फडनवीस ने कहा कि जो सबूत सामने आ रहे हैं, वह यह साबित कर रहे हैं कि इशरत जहां एक आतंकी थी। फडनवीस ने कहा कि उन्हें यह महसूस करना चाहिए कि वोटों की राजनीति के लिए आतंकियों का तु‍ष्‍टीकरण देश हित के लिए नुकसानदेह है।

उन्‍होंने कहा कि अमेरिका की जेल में बंद डेविड कोलमैन हेडली ने भी हाल ही में मुंबई कोर्ट को बताया था कि इशरत लश्‍कर की आतंकी थी। मुंब्रा के थाणे जिले की रहने वाली 19 वर्षीय इशरत जहां की 15 जून 2004 को अहमदाबाद में मुठभेड़ में मौत हो गई थी। उसके साथ तीन अन्‍य लोगों की भी मौत हुई थी।

आपको बता दें खबर अनुसार इशरत के नाम पर ये एंबुलेंस सेवा इशरत के करीबी रउफ लाला ने शुरू की थी ! एंबुलेंस को मुंब्रा में रहने वाले लोगों से ही पैसे इकट्ठा करके खरीदा गया था ! 2011 में वामपंथी नेता वृंदा करात ने स्थानीय विधायक जीतेंद्र अव्हाण के साथ इसका उद्गाटन किया था !