Home > Crime > क्या है भाजयुमो के कार्यकर्ता और ISI का कनेक्शन

क्या है भाजयुमो के कार्यकर्ता और ISI का कनेक्शन

भोपाल : ISI जासूसी नेटवर्क में राजधानी के तीन नाम सामने आए हैं। इनमें से एक शहर के नामी कारोबारी का बेटा है और एक भाजयुमो का पदाधिकारी और एक सक्रिय कार्यकर्ता हैं। इस खुलासे के बाद एक आरोपी के परिजन घर छोड़कर रातों रात गायब हो गए। दूसरा किराये से रहता था उसके मप्र एटीएस के हाथ लगने के बाद घर पर ताला लगाकर गायब हैं। जबकि कारोबारी के बेटे के परिजनों का कहना है कि उनका बेटा दो दिनों से गायब था। उनको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

मीनाल रेसीडेंसी मेंं रहने वाला ध्रुव सक्सेना इंजीनियरिंग करने के बाद भारतीय जनता युवा मोर्चा(भाजयुमो) से दो साल पहले जुड़ गया था। ध्रुव आईटी सेल का जिला संयोजक है। उसका भाजपा की कई बैठकों में आना जाना था। भाजपा के कई बड़े नेताओं के घर भी उसकी आवाजाही थी, उसको अक्सर भाजपा के सम्मेलन में देखा जाता रहा है।

उसको अंशुल तिवारी का करीबी माना जाता था। ध्रुव सक्सेना को महंगी गाड़ियों में घूमना पसंद है, फिलहाल उसके पास फोर्ड की 30 लाख की फारर्चूनर कार है। उसके 3 बार विदेश जाने की जानकारी मिली है। जिलास्तर पर भाजयुमो की सोशल नेटवर्क की को अपडेट करने की जिम्मेदारी इसी की रहती थी।

मोहित अग्रवाल साकेत नगर में किराये पर कमरा लेकर रहता है । बीई करने के बाद ध्रुव सक्सेना से जुड गया था। वह भी फिलहाल भाजयुमो का सक्रिय सदस्य है। टेलीकॉम का कारोबारी है। मोहित ध्रुव के कारोबारी रिश्ते हैं। दोनों के पास तेजी से पैसा आ रहा था। मोहित और ध्रुव अक्सर दिल्ली और मुंबई जाने की जानकारी भी मिल रही है।

ध्रुव भाजपा का कार्यकर्ता है, न ही उसे युवा मोर्चा में कोई पद दिया गया है। ग्वालियर से गिरफ्तार भाजपा पार्षद के जेठ जितेंद्र ठाकुर का भी भाजपा से कोई लेना-देना नहीं है। सरकार आतंकवाद को धर्म के आधार पर नहीं बांटती। मेरा दिग्विजय सिंह से सवाल है कि वो सिमी कैदियों के एनकाउंटर के बाद क्यों रोए थे? -नंदकुमार सिंह चौहान, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष

मनीष गांधी अरेरा कालोनी ई 4 /334 की आलीशन कोठी में रहता था। उसके पिता सिविल इंजीनियर रहे है। वह अपने भाई विपुल गांधी के साथ एमपीनगर स्थित मोबाईल शॉप सेंटर चलाता हैं। विपुल गांधी ने बताया कि उसका भाई स्वयं दो दिन से गायब हो गया था। उसके लिए वह दो दिन से लगातार फेसबुक पर उसकी फोटो डालकर सर्च कर रहे थे। उसके बाद शाम को उनको इस मामले की जानकारी लगी। इससे ज्यादा वह कुछ नहीं जानते हैंं।

ध्रुव, मोहित और मनीष गांधी कारोबारी साझेदारी की बात भी सामने आई है। ध्रुव, सॉफ्टवेयर का काम करता है। मोहित टेलीकॉम संभालता है और मनीष की मोबाइल शॉप संचालित करता है। तीनों अक्सर दस नंबर और बिठठन मार्केट में कॉफी शॉप पर मिलते जुलते थे। जिस एक्सचेंज की बात सामने आई है। उसमें इन तीनों की अहम भूमिका भोपाल में निभा रहे थे।

ध्रुव सक्सेना की कॉल डिटेल में कई रसूखदार लोगों के नाम सामने आए है। इसमें भाजपा के एक जिलास्तर के नेता की रोजाना ही छह से ज्यादा बार बात होती थी। भाजपा के बड़े नेताओं से बातचीत के रिकार्ड सामने की बात बताई जा रही है।





Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com