जबलपुर : जबलपुर से करीब 50 किमी दूर चरगंवा रोड पर सोमवार सुबह मजदूरों से भरा मिनी ट्रक पलट गया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इसमें 15 मजदूरों की मौत होने की बात सामने आ रही है। जानकारी के मुताबिक हादसा नुनपुर के पास कमतिया में हुआ। जानकारी के मुताबिक मिनी ट्रक में महिला मजदूर को मिर्ची तुड़वाने के लिए ले जाया जा रहा था। वाहन नीची से ललपुर जा रहा था।

मिनी ट्रक में सभी मजदूर खड़े हुए थे, इस दौरान ढलान पर ड्राइवर गाड़ी को बंद कर नीचे उतारने लगा। अचानक वह ट्रक पर से संतुलन खो बैठा और खतरा भांपते ही कूद गया। ढलान पर ट्रक लहराते हुए नीचे जाने लगा और गड्ढे में जाकर पलट गया। मौके पर ही 8 लोगों की मौत हो गई।

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने घायलों को ट्रक से बाहर निकाला और पुलिस व एंबुलेंस को इसकी सूचना दी। सूचना मिलने के बाद पुलिस और एंबुलेंस मौके पर पहुंची और घायलों को तुरंत जबलपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया। जहां सात लोगों की इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

सुपरवाइजर सुभाष महिला मजदूरों से मिर्ची तुड़वाने का काम करवाता था। मिनी ट्रक कमलेश कुमार सोनी निवासी, करमेता, जबलपुर का है, जिसे ठेके पर लिया गया था। ड्राइवर के नाम रूपलाल और जगदीश हैं। हादसे के दौरान 2 बार ट्रक पलटा, जिसमें अधिकतर की हड्डी टूट गई और सिर फट गया।

कलेक्टर महेश चौधरी ने हादसे में मृतकों के परिजनों को एक-एक लाख रुपए और घायलों को 10-10 हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। सूचना मिलने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी फोन ने अधिकारियों से जानकारी ली। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर हादसे को लेकर अपनी संवेदनाएं प्रकट की हैं।

घटना के बाद घायलों को मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जा रही एंबुलेंसी नानाखेड़ा के पास पलट गई। इसके बाद घायलों को दूसरी एंबुलेंस से अस्पताल भेजा गया।