jaguar-fighter

इलाहाबाद- एयरफोर्स का जगुआर फाइटर प्लेन बम्हरौली एयरबेस के उड़ान भरने के कुछ देर बाद नैनी के मुंडी चक इलाके में दुर्घनाग्रस्त हो गया। उसमें सवार पायलट और सह पायलट दोनों कूदकर बच गए। हादसे की कोर्ट ऑफ इनक्वायरी के आदेश दे दिए गए हैं।

हादसा शहर से 18 किमी दूर मुंडी चक में हुआ। सुबह लगभग 8 बजे फाइटर ट्रेनिंग विमान जेटी-0606 ने एयरबेस से उड़ान भरी। विमान रूटीन उड़ान पर बताया गया है। प्लेन में पायलट गुरजीत और उनके सह पायलट सवार थे।

दस मिनट बाद प्लेन में तकनीकी खराबी का अंदेशा होने पर दोनों पायलट कंट्रोल को सूचना देकर पैराशूट की मदद से एक-एक कर कूद गए। सह पायलट छिवकी के पास पैराशूट के बिजली के तार में फंसने से मामूली रूप से घायल हो गया। जबकि बाद में कूदे पायलट गुरजीत नैनी के मुंडी चक में सुरक्षित उतर गए।

इसके बाद प्लेन आबादी क्षेत्र के बीच रेलकर्मी रमेश यादव के मकान के बारजे से टकराया, जिससे धमाके के साथ उसमें आग लग गई। मकानों के बीच में एक बड़े खाली भूखंड में जलते प्लेन का मलबा गिरा।

जगुआर हादसे की सूचना मिलते ही एयरफोर्स, सेना, सिविल पुलिस, दमकल और एम्बुलेंस मौके पर पहुंच गईं। पूरे इलाके की घेराबंदी कर रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने जांच शुरू कर दी है। इस बारे में एयरफोर्स की ओर से आधिकारिक प्रतिक्रिया अभी नहीं मिली है। एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here