Home > India News > अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और भ्रष्टाचार से मुक्त हुआ जम्मू-कश्मीर – PM मोदी

अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और भ्रष्टाचार से मुक्त हुआ जम्मू-कश्मीर – PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देश के नागरिकों को टेलीविजन के जरिए संबधित किया। उन्होंने कहा कि हमने पूरे देश में एक ऐतिहासिक फैसला किया।

आर्टिकल 370 एक ऐसी व्यवस्था थी जिससे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारों से वंचित थे। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोग विकास से वंचित थे, वह समस्या अब दूर हो गई है।

पीएम मोदी ने कहा कि सरदार पटेल, श्यामाप्रसाद मुखर्जी और करोड़ों देशभक्तों का सपना पूरा हो गया। यह जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लिए नए युग की शुरुआत है। जम्मू-कश्मीर और देश के लोगों को बहुत-बहुत बधाई।

पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 के बारे में मान लिया गया था कि यह बदलेगा ही नहीं। इससे जो हानि हो रही थी, उसकी चर्चा ही नहीं हो रही थी।

अनुच्छेद 370 से जम्मू-कश्मीर के लोगों के जीवन में क्या लाभ हुआ? जम्मू-कश्मीर को अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और व्यवस्था में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार सहना पड़ा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 का कुछ लोगों की भावनाएं भड़काने के लिए किया गया। इस अनुच्छेद का शस्त्र के रूप में पाकिस्तान की ओर से इस्तेमाल किया जा रहा था।

आतंकवाद से 82 हजार लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर का वह विकास नहीं हो पाया जिसका वह हकदार था।

पीएम मोदी ने कहा कि ईद का मुबारक त्यौहार भी नजदीक है। मेरी ओर से सभी को ईद की शुभकामनाएं हैं। सरकार इस बात का ध्यान रख रही है कि जम्मू-कश्मीर में लोगों को ईद मनाने में कोई परेशानी ना हो। जो लोग बाहर रहते हैं और घर वापस जाना चाहते हैं उनकी भी सरकार मदद कर रही है।

सरकार भरोसा दिलाना चाहती है कि लोगों को किसी तरह की दिक्कत न होने दी जाए, इसके पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाल ही में जम्मू-कश्मीर को लेकर संसद में लिए गए ऐतिहासिक फैसले के बाद यह राष्ट्र के नाम पहला संबोधन है।

जम्मू-कश्मीर के लिए लागू संविधान के आर्टिकल 370 के करीब सभी प्रावधान हटा दिए गए हैं और इसके साथ ही इसमें शामिल आर्टिकल 35 ए भी समाप्त हो गया है।

भारतीय संसद के इस फैसले के बाद से पाकिस्तान की ओर से तनावपूर्ण प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं। पाकिस्तान ने भारत के साथ रजनयिक और व्यापारिक संबंध समाप्त करने की घोषणा कर दी है।

दोनों देशों के बीच चलने वाली ट्रेन समझौता एक्सप्रेस की परिचालन भी बंद कर दिया है। पाकिस्तान ने अपने देश में भारतीय फिल्मों की स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी है।

इसके अलावा पाकस्तान ने धमकी दी है कि वह आर्टिकल 370 हटाए जाने और जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के मामले को संयुक्त राष्ट्र में लेकर जाएगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने अंतिम बार देश को लोकसभा चुनाव से पहले 27 मार्च को सैटेलाइट रोधी मिसाइल द्वारा एक जीवित सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता की घोषणा करते हुए राष्ट्र को संबोधित किया था।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com