शोपियां में अब तक हिजबुल के चार आतंकी आतंकियों का एनकाउंटर

0
13

शोपियां: जम्मू कश्‍मीर के शोपियां में इस समय आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। दक्षिण कश्‍मीर के तहत आने वाले शोपियां के अदखेरा इलाके में स्थित इमाम साहिब में आतंकियों के साथ एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिद्दीन के टॉप कमांडर तारिक मौलवी के ढेर होने की खबरें हैं। शुक्रवार सुबह शुरू हुए इस एनकाउंटर में अब तक चार आतंकियों को ढेर कर दिया गया है। कुछ और आतंकियों के घिरे होने की जानकारी है। दोनों तरफ से लगातार फायरिंग जारी है और सेना इसका तगड़ा जवाब दे रही है। आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद हुआ है

साल 2016 में जब हिजबुल कमांडर बुरहान वानी को मारा गया था, उस समय से ही शोपियां में हिंसा का दौर जारी है। शोपियां और पड़ोस के पुलवामा में छह मई को वोटिंग होनी है। शोपियां, अनंतनाग लोकसभा सीट के तहत आता हैं। यहां पर अगले एक माह तक के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। नए आदेशों में अब बिना डीएम या फिर ड्यूटी मजिस्ट्रेट के आदेश के बिना कोई भी सभा नहीं हो सकेगी।

प्रशासन का कहना है कि तीन मई से यह नियम लागू हो गए हैं और सुरक्षा व्‍यवस्‍था की वजह से एक माह तक जारी रहेंगे। आदेश में कहा गया है, ‘सेना, पुलिस या फिर पब्लिक सर्वेंट जो ड्यूटी पर होंगे, उनके अलावा किसी को भी हथियार लेकर चलने या फिर रखने की मंजूरी नहीं होगी।’ वहीं भाषणों के लिए लाउडस्‍पीकर के प्रयोग को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। लाउडस्पीकर के लिए अब किसी को डीएम की मंजूरी लेनी होगी।

पिछले हफ्ते अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने हिजबुल के दो आतंकियों को ढेर किया था। इन आतंकियों की पहचान 25 वर्षीय सफदर अमीन भट और बुरहान अहमद गनी के तौर पर हुई थी। भट सिर्फ नौंवी कक्षा तक पढ़ा था और मई 2017 में हिजबुल का हिस्‍सा बना था। गनी को सैफुल्‍ला के नाम से भी जानते थे, वह फिजियोथैरिपी में ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहा था। जून 2018 से वह संगठन का हिस्सा था।