Home > State > Bihar > मांझी जब नीतीश के नहीं हुए तो किसी के क्या होंगे

मांझी जब नीतीश के नहीं हुए तो किसी के क्या होंगे

Bihar Jitan Manjhiपटना- मांझी के नीतीश प्रेम पर जदयू ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि मांझी के लिए जदयू का दरवाजा बंद हो चुका है। जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि जीतनराम मांझी जब नीतीश कुमार के नहीं हुए तो किसी और के भी नहीं होंगे।

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने मांझी को मुख्यमंत्री बनाया लेकिन उन्होंने पीठ में खंजर घोपने का काम किया। पार्टी में कई नेता थे लेकिन नीतीश ने उनपर विश्वास जताकर सीएम बनाया गया है। अब उनके लिए पार्टी का दरवाजा हमेशा के लिए बंद है।

रविवार को हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने नीतीश की प्रशंसा करने के साथ उन्हें राजनीति का जन्मदाता बताया था. इसके अलावा उन्होंने कहा था कि राजनीति संभावनाओं का खेल है। लालू और नीतीश एक हो सकते हैं तो कुछ भी संभव है।

उधर मांझी को केंद्रीय मंत्री बनाने के लालू प्रसाद के बयान के बाद भाजपा ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता प्रेम कुमार ने कहा कि लालू यादव अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर की बात कर रहे हैं। यह एनडीए का मामला है।

उन्होंने कहा कि लालू एनडीए में फूट डालने चाहते हैं लेकिन एनडीए एकजुट है और मांझीजी और भाजपा के नेता उनके बयान को बखूबी समझ रहे हैं और झांसे में नहीं आने वाले हैं. केंद्र में मंत्री बनाना प्रधानमंत्री का विशेषाधिकार होता है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com