Home > Crime > जेएनयू में पीएचडी की छात्रा से बलात्कार

जेएनयू में पीएचडी की छात्रा से बलात्कार

jnu_uniनई दिल्ली [ TNN ] देश की सबसे नामी यूनिवर्सिटी जेएनयू एक बार फिर गलत कारण से सुर्खियों में है। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय की पीएचडी की छात्रा ने अपने ही दोस्त पर बलात्कार का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं दोस्त ने मोबाइल में रेप का एमएमएस बनाया और फिर डरा-धमका कर कई हफ्तों तक वारदात को अंजाम देता रहा। जेएनयू में इस साल रेप और यौन उत्पीड़न की यह तीसरी वारदात है।

पीड़ित छात्रा ने इस मामले में वसंत कुंज पुलिस पर लापरवाही के गंभीर आरोप लगाए हैं। लड़की का आरोप है कि उसने पहले भी पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने एफआईआर दर्ज नही की। पीड़ित स्टूडेंट की उम्र करीब 25 साल है।

पीड़ित का आरोप है कि वारदात को अंजाम देने के बाद मामले को किसी से बताने पर आरोपी ने बुरे अंजाम की धमकी भी दी थी। कल देर शाम पीड़ित छात्रा ने पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी। बयान और मेडिकल चेकअप के आधार पुलिस ने 376 और 506 के तहत मामला दर्ज कर लिया और पूरे मामले की तफ्तीश सीनियर पुलिस अफसरों की मानीटरिंग में की जा रही। आरोपी फरार है और उसे पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें लगाई गई हैं।

सीनियर पुलिस अफसर ने बताया कि पीड़िता मूलरूप से चंडीगढ़ की रहने वाली है। वह जेएनयू से इकनॉमिक्स में पीएचडी कर रही हैं और कैंपस में ही हॉस्टल में रहती हैं। जबकि आरोपी छात्र सुधीर कुमार मूलरूप से बिहार के पटना का रहने वाला है। उसने जेएनयू से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की है। फिलहाल वह मुनीरका में किराए पर रहता है और मुखर्जी नगर स्थित एक नामी इंस्टिट्यूट में पढ़ाता है।

शुरुआती जांच में पता चला है कि दोनों के बीच कई साल पहले जेएनयू में मुलाकात हुई थी। फेसबुक और वाट्सऐप के जरिए दोनों के रिश्ते दोस्ती फिर प्यार में बदल गए। पीड़ित ने पुलिस को दिए बयान में दावा किया है कि शादी का झांसा देकर सुधीर उससे दुष्कर्म कर रहा था। इस दौरान धोखे से सुधीर ने मोबाइल में एमएमएस बना लिया। कुछ महीने पहले जब उसने शादी से इनकार कर दिया तो पीड़िता ने भी उससे बातचीत बंद कर दी।

इसके बाद वह पिछले कुछ हफ्ते से आए दिन उसे मोबाइल के एमएमएस के जरिए ब्लैकमेल कर दुष्कर्म करता रहा है। इस बात की लिखित शिकायत पीड़ित ने दो बार वसंत कुंज नार्थ थाने में दी। दोनों ही बार पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराया और आरोपी के माता-पिता को बुलाकर समझौता करा दिया था। मामला सीनियर पुलिस अफसरों के संज्ञान में उस वक्त आया जब कल शाम पीड़िता ने जेएनयू से ही 100 नंबर पर कॉल करके पुलिस को दुष्कर्म की शिकायत की। लोकल पुलिस टीम हरकत में आ गई।

देर रात तक सीनियर पुलिस अफसर थाने में ही डेरा जमाए रहे। रात में ही पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। मुनीरका स्थित आरोपी के कमरे में दबिश दी, मगर तब तक सुधीर फरार हो चुका था। एक टीम पटना के लिए रवाना की गई है। फिलहाल स
भी पहलुओं से जांच में पुलिस जुटी है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com