JNU ISSUEनई दिल्ली- अपने आंदोलन को एक कदम आगे ले जाते हुए जेएनयू छात्र देशद्रोह के मामले में जेल में बंद उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य, एसएआर गिलानी की रिहाई की मांग करते हुए आज संसद की तरफ मार्च करेंगे। तीन मार्च को जमानत पर रिहा छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के भी मार्च में शामिल होने की संभावना है। यह मार्च दोपहर में दो बजे मंडी हाउस से शुरू होगा।

पीटीआई के मुताबिक फ़रवरी में जेएनयू में हुए कार्यक्रम में कथित तौर पर भारत विरोधी नारे लगाए जाने के मामले में यूनिवर्सिटी की समिति ने कन्हैया और चार अन्य छात्रों को विश्वविद्यालय से निकाल देने की सिफ़ारिश की है !

जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार के भी इस मार्च में हिस्सा लेने की संभावना है ! देशद्रोह के आरोप का सामना कर रहे कन्हैया को तीन मार्च को ज़मानत मिली थी जबकि उमर खालिद और अनिर्बान अब भी न्यायिक हिरासत में हैं !

गौरतलब है कि संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की फांसी का विरोध करने के लिए जेएनयू में नौ फरवरी को एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम के दौरान कथित तौर पर भारत विरोधी नारे लगाए गए, जिसके बाद जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को 12 फरवरी को गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल दिल्ली उच्च न्यायालय ने उसे छह महीने की अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया। इनमें कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य एसएआर गिलानी का नाम भी शामिल बताया जा रहा है।