जुगनू ऑटो रिक्शा एग्रीगेटर का बुरहानपुर में प्रवेश

बुरहानपुर: भारत के सबसे बड़े ऑटो-एग्रीगेटर, जुगनू ने बुरहानपुर शहरवासियों के स्थानीय आवाजाही के लिए हाल ही में एक किफायती और आसान सवारी प्रदान करने के लिए शहर में ऑटोस और जुगनू टैक्सी सेवा शुरू की है। शहरवासियों को अब जुगनू ऐप जोकि ऑटोस और टैक्सी प्रदान करता है, पर एक क्लिक कर जुगनू की विश्वसनीय और त्वरित सेवाओं पर पहुंच होगी।

सड़क पर 50 शहरों में 50000 से अधिक ऑटोस और टैक्सी फ्लीट दौड़ाने वाले जुगनू का उद्देश्य देशभर के विभिन्न शहरों में अपनी सेवाओं को विस्तार करना है। जुगनू ऑटोस / टैक्सी सेवाएं किफायती दरों पर उपलब्ध हैं और उपयोगकर्ता किसी भी 5 राइड्स पर 50 रुपये तक फ्लैट 50% कैश बैक का लाभ उठा सकते हैं। जुगनू ऐसे लाइसेंसधारी चालकों को ऑन बोर्ड करेगा, जिन्हें अथॉरिटी ने स्क्रीनिंग कर मान्यता प्रदान की है। इसके साथ ही, प्रत्येक ड्राइवर पार्टनर को ऐप पर पहुंच बनाने से पहले वैध सरकारी दस्तावेज जमा करने होंगे।

समर सिंगला, जुगनू के सीईओ और संस्थापक ने कहा, ‘‘जुगनू हमेशा अपने ग्राहकों को सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध रहा है। हम लगातार लोगों के लिए सुविधाजनक व्यवसाय मॉडल विकसित करने पर जोर दे रहे हैं चाहें यह सवारी हो या फिर कोई अन्य हाइपर-लोकल जरूरत। बुरहानपुर में जुगनू लॉन्च के साथ, हमारा लक्ष्य है कि हम अपने बढ़ते ग्राहक आधार के लिए सस्ती यात्रा विकल्प प्रदान करें। देश में अपनी स्थिति को मजबूत करने तथा ज्यादा से ज्यादा जनमानस को अपनी सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए, जुगनू के पास बड़ी योजनाएं हैं।’’

वर्तमान में, जुगनू टियर II और टियर III शहरों, जहां दूरी कम है और लोग पब्लिक ट्रांस्पोर्ट पर अधिक भरोसा करते हैं, पर ध्यान केन्द्रित करते हुए, देश के 50 से अधिक शहरों में अपना परिचालन कर रहा है। अन्य भारतीय शहरों में सफलतापूर्वक अपना व्यवसाय मॉडल क्रियांवित करने के बाद, जुगनू की अगली पसंद बुरहाणपुर है। जुगनू सस्ती सवारी मुहैया कराने के उद्देश्य से काम करता है और यह सुनिश्चित करता है कि ड्राइवर इतनी कम लागतों पर काम न करें कि उन्हें नुकसान उठाना पड़े।

अपने ग्राहकों को सस्ती लागत पर सेवाओं की श्रृंखला प्रदान करते हुए, उनकी सभी हाइपर-लोकल जरूरतों को पूरा कर, जुगनू ने खुद को ऑटो रिक्शा एग्रीगेटर के तौर पर स्थापित किया है। साथ ही, इसकी सेवाओं की शुरूआत पूरी तरह से कम्पनी की भविष्यगामी योजनाओं से मेल खाती है क्योंकि इसने देश के प्रमुख शहरों में विस्तार करने की योजना बनायी है।