rape

कैथल –बंधक बनाकर रखी गई एक महिला ने जब सजगता व बुद्धिमता का परिचय देकर 100 नं. पर पुलिस को सुचित किया तो पुलिस ने तत्परता व मुस्तैदी का परिचय देते हुए बंधक बनाई गई महिला को न सिर्फ आजाद करवाया, अपितु मामला दर्ज करते हुए 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। मामले की पृष्ठभूमि में खरीद-बेच का होना पाया गया, जिसके तार दिल्ली से जुड़े है।

बंधक बनाई गई युवती 2 बच्चों की मां बताई गई है, जिसकी अपने पति सुल्तान के साथ अनबन होने कारण वह जब वापिस मां-बाप के पास दिल्ली आई, तो वे अपनी झुग्गी बेचकर कलकता जा चुके थे। इस युवती को शादी का झांसा देकर एक महिला ने दिल्ली में कोई अन्य युवक दिखाया गया था, परंतु थाना कलायत अंतर्गत के एक गांव में पहुंचने पर किसी अन्य व्यक्ति ने एक कुटिया में उससे जबरन वरमाला डालते हुए शादी का ढ़ोग रचाया तथा करीब 4 दिन तक घर पर जबरदस्ती करता रहा। आरोपियों से व्यापक पुछताछ की जा रही है।

पुलिस पीआरओ आर.एल. खटकड़ ने बताया कि 31 जनवरी की रात पुलिस कंट्रोल रुम के 100 नं. पर किसी महिला का फोन आया कि उसके गांव खेड़ी लाम्बा में बंधक बनाया हुआ है। रात को ही पुलिस ने मुस्तैदी का परिचय देते हुए लेडी एएसआई नीतू रानी, कांस्टेबल नीलम रानी, सिपाही मुकेश कुमार व एसआई प्रेम सिंह की टीम ने उचित कार्रवाही करते हुए गांव के एक मकान से महिला को रिहा करवाया तथा कलायत की महिला एमसी दर्शना देवी के घर पर लाया गया।

बंधक बनाई गई करीब 25 वर्षीय युवती काल्पनिक नाम अनिता के ब्यान पर थाना कलायत में मामला दर्ज किया गया। युवती के ब्यानानुसार उसके माता पिता मेदनीपुर कलकत्ता वासी है, जो काफी वर्ष पुर्व दिल्ली में आ गए तथा वहीं उसका जन्म हुआ। करीब 4/5 वर्ष पुर्व उसकी शादी युपी वासी एक युवक से हुई थी, जिससे उसे 2 बच्चे है। करीब ढ़ेड वर्ष पुर्व जब उसके पिता को लकवा मार गया तो उसने ईलाज के लिए जहांगीर पुर स्थित अपनी झुग्गी मुंह बोली मौसी के लड़के को 16 हजार रुपए में बेच दी तथा दोनों वापिस अपने गांव मेदनीपुर चले गए।

पति से अनबन होने उपरांत जब वह मां बाप की तलाश में दिल्ली आई, जिनके नहीं मिलने व उनका फोन नं. भी नहीं होने कारण एक सभ्रांत महिला के पास दिल्ली में ही रहने लगी। युवती की महिला के पड़ौस में रहने वाली एक औरत से बातचीत होती रहती थी, जिसका कथित तौर पर मीरा नाम बताया गया है। 27 जनवरी को मीरा उसे बरगलाते हुए पड़ौस के एक पार्क में ले गई, जहां शादी के लिए युवती को एक लड़का दिया गया और पुछा की क्या लड़का ठीक है, तो युवती ने हॉ कर दी। उसी औरत ने उसे एक गाड़ी में हरियाणा के गांव खेड़ी लाम्बा लाकर एक घर में छोड़ दिया।

अगले दिन 28 जनवरी को लड़के के घरवाले उसे पास के एक गांव की कुटिया में ले गए जंहा युवक ने जबरन उसके गले में वरमाला डाल दी, जबकि दिल्ली में उसे कोई और लड़का दिखाया गया था। वापिस घर आने पर उसे घर में ही बंधक बनाकर लड़का दुष्कर्म करता रहा। 31 जनवरी की रात युवती ने मौका पाकर पुलिस कंट्रोल रुम में इसकी सुचना दी तो पुलिस द्वारा तुरंत कार्रवाही अमल में लाई गई। लेडी एएसआई नीतू रानी ने गांव लांबा खेड़ी वासी राजा राम व इसी गांव वासी उसके दुसरे साथी को भी गिरफ्तार कर लिया है, जिनसे पुछताछ की जा रही है। युवती को न्यायालय के आदेशानुसार उसकी ईच्छानुसार दिल्ली भेज दिया गया है, तथा दोनों आरोपियों को अदालत में पेश किया किया गया । रिपोर्ट – राजकुमार अग्रवाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here