हनुमान जयंती पर करें चालीसा का पाठ, हनुमान जी करेंगे कोरोना के संकट को दूर – कमलनाथ

कमलनाथ ने अपने संदेश में कहा, ‘आज पूरा विश्व एक विश्वव्यापी महामारी का सामना कर रहा है। ऐसे में आप सभी मिलकर इस कठिन घड़ी में प्रदेशवासियों का कंधे से कंधा मिलाकर साथ दें। हर मददगार की मदद के लिए आगे आएं।’

भोपाल : कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण और देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन से पनपे हालात के बीच संकट की इस घड़ी में मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के नाम संदेश दिया है।

कमलनाथ ने बुधवार को हनुमान जयंती के अवसर पर शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि सभी लोग अपने-अपने घरों में हनुमान चालीसा का पाठ करें।

उन्होंने कहा कि भगवान सभी संकट को दूर करते हैं, जल्द ही कोरोना जैसी महामारी का भी अंत होगा। इसके अलावा उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वह प्रत्येक जरूरतमंद की मदद के लिए आगे आएं। संकट की घड़ी में जरूरतमंद की मदद के लिए हाथ बढ़ाना ही कांग्रेस पार्टी की पहचान है। इस कठिन समय में प्रदेश के लोगों की मदद करें।

कमलनाथ ने अपने संदेश में कहा, ‘आज पूरा विश्व एक विश्वव्यापी महामारी का सामना कर रहा है। ऐसे में आप सभी मिलकर इस कठिन घड़ी में प्रदेशवासियों का कंधे से कंधा मिलाकर साथ दें। हर मददगार की मदद के लिए आगे आएं।’

उन्होंने इस महामारी के समय हनुमान चालीसा का पाठ करने का भी आग्रह किया।

पीसीसी चीफ और पूर्व सीएम कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं से कहा कि जिस तरह से हमारे डॉक्टर, वैज्ञानिक, नर्स, वार्डबॉय और अन्य सभी स्वास्थ्यकर्मी महामारी से लड़ रहे हैं, उससे हम जल्दी कोरोना वायरस की महामारी से निजात पाने में कामयाब होंगे। डॉक्टर, पुलिस, नर्स, नगर निगम कर्मी, स्वास्थ्यकर्मी इस महामारी में लोगों की सेवा कर रहे हैं। उसी तरह से आप भी अपने सामाजिक दायित्वों को निभाएं। हर जरूरतमंद तक मदद पहुंचाएं, चाहे वह सूखा राशन हो या फिर बना हुआ भोजन मुहैया कराना हो या फिर स्वास्थ्य संबंधी मदद। सभी कार्यकर्ता गरीब और असहाय लोगों की मदद के लिए आगे आएं।

उन्होंने कार्यकर्तओं से कहा है कि वो स्थानीय प्रशासन के ज़रिए ही लोगों तक मदद पहुंचाएं।

मध्यप्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के 57 नए मामले सामने आने के बाद प्रदेश में इस बीमारी की चपेट में आने वालों की तादाद बढ़कर 313 पर पहुंच गई है।

अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश की राजधानी भोपाल में पिछले 24 घंटों में सबसे ज्यादा 24 मामले सामने आये हैं।

इसी के साथ भोपाल में ऐसे मरीजों की संख्या बढ़कर 85 हो गई है, जिनमें चिकित्सकों सहित स्वास्थ्य विभाग के 40 कर्मचारी और एक नगर पुलिस अधीक्षक सहित 12 पुलिसकर्मी शामिल हैं।

प्रदेश की आर्थिक राजधानी माने जाने वाले शहर इन्दौर में अब तक सर्वाधिक 173 संक्रमित मरीज मिले हैं। पिछले 24 घंटों में इन्दौर में कोरोना वायरस के 22 नए मरीजों का पता चला है।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में अब तक 23 लोगों की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से हो चुकी है, जिनमें से इंदौर में 15, उज्जैन में पांच एवं भोपाल, खरगोन एवं छिंदवाड़ा में एक-एक मौत शामिल हैं।

मध्य प्रदेश के दो जिलों श्योपुर एवं होशंगाबाद में मंगलवार को पहली बार एक एक कोविड-19 संक्रमित मरीज पाये जाने के बाद प्रदेश के 52 जिलों में से 14 में इस महामारी ने दस्तक दे दी है। भुवनेश्वर का एक व्यक्ति भी भोपाल में संक्रमित पाया गया है।