Home > India News > कमला मिल्स अग्निकांड में खुलासा, इस वजह से लगी थी आग

कमला मिल्स अग्निकांड में खुलासा, इस वजह से लगी थी आग

मुंबई के कमला मिल्स स्थित पब में हुक्कों की वजह से आग लगी थी। कमला मिल्स आग्निकांड पर आई फायर ब्रिगेड की रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि मोजो बिस्त्रो में हुक्कों की वजह से आग लगी थी। रिपोर्ट में दोनों पब में नियमों की धज्जियां उड़ाने की भी बात सामने आई है।

कमला हादसे में फायर ब्रिगेड की जांच के मुताबिक आग मोजो बिस्त्रो में हुक्कों की वजह से लगी, जबकि मुंबई में हुक्का पार्लर अवैध हैं। मोजो के पास शराब सर्व करने का लाइसेंस भी नहीं था, लेकिन वो भी वहीं सर्व की जा रही थी। जिस वक्त आग शुरू हुई उस समय मोजो में हुक्का सर्व किए जाने के लिए तैयार किए जा रहे थे।

रिपोर्ट के अनुसार हुक्का सिगड़ी में कोयले को आंच देने के लिए पंखे का इस्तेमाल किया जा रहा था। इससे चिंगारी उठकर पर्दों में लगी। मोजो से वन अबव पहुंची थी आग। दोनों रेस्टोरेंट में उड़ाई गई नियमों की धज्जियां। यही नहीं, इमरजेंसी एग्जिट को जाने वाले रास्ते पर सामान भरा था।

आग का अवैध खेल

रिपोर्ट के अनुसार बार टेंडर जो आग के खेल कर रहे थे वो भी अवैध है। आग को बुझाने में अग्निशामक यंत्र नाकाम रहे। चश्मदीदों के मुताबिक आग बड़ी तेजी से ऊपर चल रहे 1 अबव में पहुंच गई। वन अबव में भी रूफ के लिए जिस तिरपाल का इस्तेमाल हुआ था वो ज्वलनशील थी। वहां अवैध शेड, बंबू लकड़ी का भी दोनों रेस्टोरेंट में इस्तेमाल किया गया था। छत पर बड़ी मात्रा में एल्कोहल, प्लाईवुड, कपड़े वगैरह स्टोर किए गए थे। सिलेंडर भी टैरेस पर रखे थे।

इमरजेंसी के लिए इस्तेमाल किए जाने वाली सीढ़ियों पर जाने वाले रास्ते में सामान भरा हुआ था। सजावट के सामान वहां रखे थे। कुल मिलाकर सीढियों पर जाने का रास्ता जाम था और बिल्डिंग का फायर फाइटिंग सिस्टम काम नहीं कर रहा था।

मौत के आंकड़े बढ़ाने का था पूरा इंतजाम

दोनों रेस्टोरेंट में बड़ी मात्रा में जिन सजावटी मटेरियल, कुशन, अपहोल्स्ट्री आदि का इस्तेमाल हुआ था, उनके जलने पर भारी मात्रा में कार्बन डाई ऑक्साइड और कार्बन मोनो ऑक्साइड गैसें निकलती हैं उस दिन करीब तीन सौ लोग दोनों रेस्टोरेंट में मौजूद थे। आग से समय लिफ्ट से जाने का विकल्प था नहीं औऱ वन अबव में मौजूद लोगों के लिए सीढ़ियां का रास्ता जाम था। आग के गोले लोगों पर गिर रहे थे। आग और धुएं से बचने के लिए काफी लोग टॉयलेट में घुस गए, लेकिन फायर ब्रिगेड के पहुंचने से पहले आग टॉयलेट पहुंच गई और 14 लोगों की धुएं से दम घुटकर मौत हो गई।

आरोपियां की सूचना देने वाले को एक लाख का इनाम

वहीं, मुंबई पुलिस ने कमला मिल्स आग्निकांड के आरोपियों की सूचना देने वाले को एक लाख रुपये का इनाम देने ऐलान किया है। इस घटना के बाद से पब मालिक कृपेश संघवी, जिगर संघवी और अभिषेक फरार चल रहे हैं। मालूम हो कि गुरुवार रात को मुंबई के कमला मिल्स के पब में आग लगने की दिल दहला देने वाली घटना में 14 लोगों की मौत हो गई थी।

इसके बाद पुलिस ने लोअर परेल स्थित पब ‘1 एबव’ के सह-मालिक हितेश सांघवी और जिगर सांघवी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। पुलिस ने इस मामले में सांघवी बंधुओं, एक अन्य सह-मालिक अभिजीत मनका और अन्य के खिलाफ मामला भी दर्ज कर रखा है।

इसके बाद बीएमसी के पांच अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया था। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी घटनास्थल का दौरा किया था। इसके साथ ही फडणवीस ने बीएमसी कमिश्नर को मामले की जांच के आदेश दिए गए थे। उन्होंने इस घटना के लिए जिम्मेदार रेस्तरां मालिकों के खिलाफ भी कार्रवाई करने की बात कही थी।

फडणवीस ने कहा था कि अगर मामले में बीएमसी की लापरवाही पाई जाती है, तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उधर, इस घटना के बाद बीएमसी ने अभियान चलाकर 314 स्थानों पर अवैध ढांचों को गिरा दिया था और सात होटल सील कर दिया था।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com