जिन्होंने बुरहान वानी और अफजल गुरु को आतंकी नहीं माना, वो मुझे आतंकवादी बता रहे – कपिल मिश्रा

उत्तर पूर्व दिल्ली के मौजपुर चौक पर सीएए के समर्थन में भीड़ को संबोधित करते हुए दिये गए अपने भाषण पर उठे विवाद के बाद बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है।

कपिल मिश्रा ने विरोधियों को एक बार फिर जवाब देते हुए अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि जिन्होंने कभी बुरहान वानी और अफ़ज़ल गुरु तक को आतंकवादी नहीं माना, वो कपिल मिश्रा को आतंकवादी बता रहे हैं। जो याकूब मेनन , उमर खालिद और शरजील इस्लाम को रिहा करवाने कोर्ट जाते हैं, वो कपिल मिश्रा को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। मिश्रा ने अपने ट्वीट ‘जय श्री राम’ भी लिखा है।

बता दें कि पूर्व AAP विधायक और हाल के दिल्ली विधानसभा चुनाव में मॉडल टाउन से बीजेपी के टिकट पर हार चुके मिश्रा ने रविवार को जाफराबाद इलाके के मौजपुर चौक में सीएए के समर्थन में सभा को संबोधित किया था जिसके बाद ही दोनों पक्षों के बीच झड़पें शुरू हुईं।

इससे पहले कपिल मिश्रा ने मंगलवार को ट्वीट किया कि उन्हें गाली दी जा रही हैं और जान से मारने की धमकी दी जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून का समर्थन करके उन्होंने कोई अपराध नहीं किया। मिश्रा ने कहा, “मुझे कई लोगों ने फोन पर जान से मारने की धमकी दी है। नेताओं और पत्रकारों समेत कई लोग मुझे गाली बक रहे हैं। मैं डरता नहीं क्योंकि मैंने कुछ गलत नहीं किया।”

आपकी जानकारी के लिए बता दें, दिल्ली हिंसा से पहले कपिल मिश्रा उत्तर पूर्वी दिल्ली पहुंचे थे और वहां सीएए का विरोध कर रहे लोगों के खिलाफ भाषणबाजी की थी।

मिश्रा का एक वीडियो भी सामने आया है। जिसमें वह दिल्ली पुलिस को अल्टिमेटम देते हुए दिख रहे हैं कि तीन दिन में रास्ता खाली करवा दें, वरना खतरनाक अंजाम होगा।