Home > India News > करणी सेना पद्मावत देखने को तैयार, रखी ये शर्त

करणी सेना पद्मावत देखने को तैयार, रखी ये शर्त

राजपूत करणी सेना ने करणी सेना के उस प्रस्ताव को मान लिया है जिसमें संजय लीला भंसाली ने कहा था कि वह पहले पद्मावत देखे, उसके बाद फैसला ले। लेकिन एक शर्त भी रखी है।

करणी सेना ने कहा कि ये फिल्म जब तक हम नहीं देखते, तब तक न तो इसे देखने देंगे, न रिलीज होने देंगे। उधर, करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कल्वी ने कहा, 28 दिसंबर को सेंसर बोर्ड ने तीन इतिहासकार और जानकारों को ये फिल्म दिखाई दी, लेकिन तीनों ने कहा कि इसे बैन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि करणी सेना को 4 राज्यों के अलावा बाकी राज्यों ने भी बैन के लिए विचार किया है।

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत की रिलीज को चार दिन ही बचे हैं इसी के साथ फिल्म का विरोध प्रदर्शन भी चर्म पर नजर आ रहा है। गुरुग्राम में उत्पात मचाने के बाद करणी सेना नोएडा पहुंची, जहां उसने लोगों से मारपीट और पुलिस की मौजूदगी में विरोध प्रदर्शन किया। इस मामले में पुलिस ने 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही 200 लोगों के ख‍िलाफ बलवा और मारपीट के केस दर्ज हुए हैं। इनमें 7 नामजद हैं, जबकि बाकी अज्ञात हैं। 5 नामजदों का पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जबकि पांच की पुलिस तलाश कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, नोएडा के DND पर विरोध प्रदर्शन कर रही करणी सेना आम लोगों से भी मारपीट कर रही है। नोएडा एसपी के मुताबिक कर्णी सेना के लोगों ने DND पर विरोध प्रदर्शन किया उत्पात मचाया है लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। नोएडा पुलिस का कहना है कि वह जल्द ही करणी सेना के सदस्यों के खि‍लाफ FIR दर्ज करेगी।

पुलिस के सामने करणी सेना का उत्पात

पद्मावत के विरोध में उतरी करणी सेना विरोध की आड़ में उत्पात मचाती दिखी, डीएनडी पर पुलिस की मौजूदगी में करणी सेना के लोगों द्वारा अराजक प्रदर्शन किया गया और आने जाने वाले लोगों से मार पीट भी की गई। इस सब के बीच पुलिस बनी मूक दर्शक। नोएडा से पहले गुरुग्राम में भी करणी सेना के लोगों द्वारा तोड़फोड़ की घटना सामने आई है।

हाल ही में संगठन के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कल्वी ने गुरग्राम में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मूवी हॉल मैनेजर हमारे ‘जनता कर्फ्यू’ का सपोर्ट करें। सबसे पहले उन्‍हें तय करना होगा कि वो खिलजी हैं या पद्मावती? वो देश के साथ या फिर देश के खिलाफ। वो राम का साथ देंगे या फिर रावण का?

लोकेंद्र सिंह कल्वी ने बताया कि संजयलीला भंसाली ने हमें फिल्‍म देखने का न्‍यौता भेजा है। वो सोच रहे होंगे कि हम इसे ठुकरा देंगे। लेकिन ऐसा नहीं होगा। हम फिल्‍म देखने जरूर जाएंगे। उन्‍होंने मुझे जो लेटर लिखकर स्‍क्रीनिंग के लिए बुलाया है उसमें स्‍क्रीनिंग की तारीख नहीं दर्ज है। ऐसे में यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि फिल्‍म हमें चार से पांच सालों में दिखाई जाएगी।उन्‍होंने कहा कि हम फि‍ल्‍म देखने जरूर जाएंगे। सेंसर बोर्ड ने यह मूवी चुने हुए तीन लोगों को दिखाई, हम लोग चाहते हैं यह मूवी पत्रकारों को दिखाई जाए। उसके बाद सभी लोगों की राय सुनी जाए।

अहमदाबाद के 10 सिनेमाघरों को मिलेगी अतिरिक्त सुरक्षा

ताजा जानकारी के मुताबिक, फिल्म पद्मावत अहमदाबाद के 10 मल्टीप्लेक्स और सिनेमाहॉल्स में रिलीज होगी। जिन मल्टीप्लेक्स और हॉल्स में फिल्म को रिलीज किया जाएगा वहां सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की जाएगी। एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक SRP की टीम सुरक्षा में तत्पर रहेगी। आल्फावन सिनेपोलीश, हिमालया मॉल, एक्रोपोलिश सिनेमा, के सेरा सेरा, मुक्ता सिनेमा, सिनेमेक्स, पीवीआर, राजहंस सिनेमा, पीवीआर रेड कार्पेट, सीटी गोल्ड में पद्मावत की रिलीज के चलते अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।

रिलीज के नजदीक करणी सेना बेकाबू

गुरुग्राम, नोएडा से पहले करणी सेना ने गुजरात के एक मल्टीप्लेक्स में तोड़फोड की और फरीदाबाद के एक मॉल में आग लगा दी है। इसके बाद गुजरात के मेहसाण में करणी सेना के सदस्यों द्वारा बस को जला देने का मामला भी सामने आया है। हालांकि गुजरात के थि‍एटर ऐसोसिएशन की ओर से राज्य में फिल्म की स्क्रीनिंग पर बैन लगाने का फैसला लिया गया है, बावजूद इसके इस राज्य में विरोध प्रदर्शन की घटनाएं सामने आ रही हैं।

बता दें सुप्रीम कोर्ट के फिल्म से बैन हटाने के फैसले के बावजूद फिल्म की गुजरात और राजस्थान में स्क्रीनिंग रोक दी गई है। इन दोनों राज्यों के बाद अब इस फिल्म के विरोध में जुटी करणी सेना की विरोध की आग एनसीआर त‍क पहुंच चुकी है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com