Home > State > Delhi > दिल्ली में चार नवंबर से फिर लागू होगा ऑड-ईवन, गडकरी बोले- जरूरत नहीं

दिल्ली में चार नवंबर से फिर लागू होगा ऑड-ईवन, गडकरी बोले- जरूरत नहीं

नई दिल्लीः दिल्ली में सर्दियों में होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार एक बार फिर ऑड-ईवन लागू करने जा रही है। इसके साथ ही उन्होंने कई और भी कदम उठाए हैं जिसका एलान उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेंस में किया। उन्होंने इसे पराली एक्शन प्लान नाम दिया है। इस एक्शन प्लान के तहत उन्होंने 7 प्वाइंट सुझाए हैं। केजरीवाल का कहना है कि 7 में से ऑड-ईवन और पटाखे वाला प्लान दो पराली का धुआं कम हो जाने के बाद खत्म हो जाएंगे लेकिन बाकी पांच प्लान को विंटर एक्शन प्लान में बदल दिया जाएगा।

जब दिल्ली सरकार के इस कदम पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से सवाल किया गया तो वह बोले, ‘अभी तो जरूरी नहीं है क्योंकि हमने जो नया रिंग रोड बनाया उससे प्रदूषण काफी कम हुआ है। मेरे अंदाज से मेरे दो साल में मेरे विभाग से 50 हजार करोड़ बन रहे हैं, वो यमुना जल शुद्धिकरण और वायु शुद्धिकरण दोनों योजनाएं चल रही हैं। अगले दो सालों में दिल्ली प्रदूषण मुक्त हो जाएगी।’

केजरीवाल का कहना है कि नवंबर के आसपास पराली के धुएं से प्रदूषण बढ़ना शुरू होता है ऐसे में इस वक्त ये कदम उठाकर दिल्ली में प्रदूषण कम किया जा सकता है। नीचे पढ़िए क्या हैं वह सात प्लान जिससे प्रदूषण कम करने की योजना सरकार बना रही है…

1. प्रदूषण मुक्त दिवाली के लिए छोटी दिवाली को दिल्ली सरकार बड़ा लेजर शो आयोजित करेगी। फ्री एंट्री होगी। सरकार का मानना है कि इसके बाद लोग पटाखे नहीं जलाएंगे।
-दिल्ली वालों से अपील है कि पटाखे नहीं बजाए। दिवाली पर प्रदूषण रोकने के लिए लोगों को लेजर शो के जरिये जागरूक किया जायेगा। इसके लिए पूरी दिल्ली को एक साथ दिवाली मनाने का कार्यक्रम घोषित किया जायेगा।
2. 4 नवंबर से 15 नवंबर के बीच दिल्ली में ऑड-ईवन। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि प्रदूषण से निबटने के लिए 4 नवम्बर से 15 के बीच ऑड-इवन लागू करेंगे। पिछले अनुभव के मुताबिक ऑड-इवन से 13 फीसदी तक प्रदूषण कम हुआ था।
3. दिल्ली सरकार बड़े स्तर पर मास्क बांटेगी। दिल्ली सरकार एक अक्टूबर से N-95 कैटेगरी के मास्क बांटेगी। जिससे प्रदूषण के समय लोग इससे बच सकें।
4. स्थानीय तौर पर कई बार कूड़ा जलाया जाता है उस पर रोक लगाने के लिए काम किया जाएगा। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ठण्ड में कूड़े को जलाने से भी बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है। लेकिन इस बार इसे रोकने के लिए हर वार्ड में दो मार्शल तैनात किये जायेंगे। प्रदूषण की किसी भी शिकायत पर तुरन्त कार्रवाई के लिए वार रूम बनाया जायेगा।
5. हॉट स्पॉट एक्शन प्लान के जरिए उन क्षेत्रों को चिन्हित करेंगे जहां ज्यादा प्रदूषण होता है। दिल्ली की एक दर्जन जगहों पर प्रदूषण ज्यादा होता है। इन जगहों पर प्रदूषण कम करने के लिए विशेष योजना बनाई जाएगी। इसके अलावा पूरी दिल्ली में पेड़ लगाने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। यह योजना ठंड के बाद भी जारी रहेगी।
6. धूल आदि को नियंत्रित करने के लिए प्लान। धूल से होने वाले प्रदूषण से बचने के लिए मैकेनिकल स्वीपिंग कराई जाएगी। विभिन्न जगहों पर पानी का छिड़काव किया जायेगा।
7. सरकार दिल्लीवालों को पौधे लगाने का चैलेंज भी देगी। इसके तहत जो भी चाहे अपने घर पर पौधे लगाए और उसकी देखभाल करे। इसके अलावा दिल्ली में ई-बसों के जरिये भी प्रदूषण में कमी लायी जाएगी। लोगों को प्राइवेट वाहनों की बजाय लक्सरी बसों को इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया जायेगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में बड़ा एलान करते हुए कहा कि इस बार सर्दियों में प्रदूषण से निपटने के लिए सरकार एक्शन प्लान लेकर आ रही है। इसमें ऑड-ईवन फॉर्मूला भी शामिल है, जो सात दिनों तक लागू रहेगा।

इसके बारे में बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑड-ईवन फॉर्मूला ऐसी स्कीम है जो ज्यादा समय के लिए लागू नहीं की जा सकती है क्योंकि इसके इंप्लीमेंटेशन में समस्याएं आने लगती हैं। सात दिन इसके लिए काफी हैं। इसके साथ ही हम अन्य कदम भी उठा रहे हैं जो प्रदूषण रोकने में कारगर होंगे।

इसके तहत दिल्ली की सड़कों पर एक दिन ऑड नंबर वाली गाड़ियां चलेंगी और एक दिन ईवन नंबर वाली गाड़िया चलेंगी।

क्या है विषम(ऑड) संख्या-
ऑड यानी विषम संख्याएं वो होती हैं जिनका भाग 2 से नहीं किया जा सकता। जैसे- 1, 3, 5, 7, 9
विषण संख्या वाली गाड़ियां 5, 7, 9, 11, 13 और 15 नवंबर को चलेंगी।

क्या है सम(ईवन) संख्याः
सम यानी ईवन संख्या वो होती है जिसे दो से विभाजित किया जा सकता है। जैसे- 2, 4, 6, 8, 0
सम संख्या वाली गाड़िया 4, 6, 8, 10, 12 और 14 नवंबर को चलेंगी।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com