खंडवा जिला जेल में कैदी प्रहरी के मोबाइल से बात करते पकड़ाया

 

Khandwa jail

खंडवा [ TNN ] जिला जेल में डकैती का विचाराधीन कैदी प्रहरी के मोबाइल से बात करते पकड़ाया। अधीक्षक ने प्रहरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। घटना मंगलवार सुबह जेल बैरक नंबर 4 के पीछे की है। डकैती के मामले में जेल में बंद इलयास पिता सुभान निवासी बैतूल को मियादी कैदियों ने सुबह 9.30 बजे मोबाइल पर बात करते पकड़ा। मियादी कैदियों और इलयास के बीच छीना-झपटी हाथापाई हुई। इस दौरान इलयास ने मोबाइल को जेल से बाहर फेंक दिया।

घटना की जानकारी मिलते ही जेल अधीक्षक पीएस बडेरिया ने कैदियों से पूछताछ की। इलयास ने कहा मेरे पास मोबाइल नहीं है। मुझे झूठा फंसाने की कोशिश की जा रही है। मियादी कैदियों ने जेल अधीक्षक को बताया मोबाइल जेल के बाहर फेंका गया है, उसे बाहर ढूंढो। जेल से बाहर प्रहरियों मियादी बंदियों को एक मोबाइल मिला जो जेल प्रहरी अशोकसिंह चौहान का निकला। जेल अधीक्षक ने प्रहरी अशोक चौहान को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर मुख्यालय सूचना दी।

एक माह पहले भी  मिली थी सूचना
जेल के बैरक नंबर चार के पीछे जिस जगह इलयास मोबाइल पर बात करते पकड़ाया, वहीं एक माह पहले मोबाइल की रिंग टोन सुनाई दी थी लेकिन मामले को दबा दिया। मोबाइल पकड़ाने के बाद जेल अधीक्षक भी मान रहे हैं कि पूर्व की घटना में भी अशोक का हाथ होगा।

जेल अधीक्षक ने कॉल किया तो खुली पोल 

जेलअधीक्षक के आदेश पर कैदियों के बताए स्थान पर मोबाइल की तलाश की। इस दौरान मशक्कत के बाद भी मोबाइल नहीं मिला। जेल अधीक्षक को प्रहरी अशोक चौहान पर पहले से ही शंका थी। उन्होंने अशोक चौहान के मोबाइल पर कॉल किया। प्रहरी के पास मोबाइल नहीं मिला। वह भी मोबाइल ढूंढ रहा था। इसी दौरान मोबाइल पर रिंग बजी। जेल अधीक्षक ने मोबाइल जब्त किया। 

इंदौर से खंडवा अटैच किया था प्रहरी को
^जेल प्रहरी अशोकसिंह चौहान के मोबाइल से डकैती का आरोपी इलयास बात करते पकड़ाया। मामले में जेल प्रहरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर जेल मुख्यालय को सूचना दी है। एक माह पहले मोबाइल पर बात करने के मामले की जांच चल रही है। प्रहरी अशोक चौहान को इंदौर जेल से खंडवा अटैच किया है। इंदौर में भी कैदियों को मोबाइल पर बात कराता था। इसके चलते इंदौर से हटाया था।-पीएस बडेरिया,अधीक्षक,जिला जेल