Home > State > Madhya Pradesh > Khandwa > 600 से ज्यादा लड़कियों के साथ दंगल देखने पहुंची खंडवा की मर्दानी

600 से ज्यादा लड़कियों के साथ दंगल देखने पहुंची खंडवा की मर्दानी

khandwa-collector-swati-meena-nayak-dangal-movieखंडवा- आमिर खान की फिल्म ” दंगल ” के जरिए लड़कियों को कुस्ती जैसे खेल और खास कर महिलाओं और लड़कियों को सशक्त करने के उद्देश्य से जिला कलेक्टर स्वाति मीणा नायक ने एक विशेष स्क्रीनिंग शो का आयोजन किया। इस स्पेशल शो में बॉक्सिंग, रेसलिंग और अन्य खेलों से जुड़ी लड़कियों ने फिल्म देखी। उनका हौसला बढ़ाने ” दंगल ” फिल्म में आमिर खान और साथी कलाकारों को कुश्ती के दांवपेंच सिखाने वाले नेशनल अवार्ड विनर कृपा शंकर पटेल और जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सहित कई गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

दंगल फिल्म की इस विशेष स्क्रीनिंग शो में हिस्सा लेने पहुचे कृपा शंकर पटेल ने कहा कि ” आमिर खान जब भी कोई फिल्म करते है तो उसके किरदार को पूरी तरह जीवन प्रदान करते है। आमिर ने दंगल के लिए जब मुझ से कुश्ती को लेकर सवाल किए तो में खुद अचंभित हो गया कि इस फ़िल्मी कलाकार को कुश्ती का इतना नॉलेज कहा से आ गया ?

उन्होंने बताया की आमिर ने एक ऐसा विषय चुना जो महिलाओं को सशक्त करने के साथ ही देश भक्ति की भावना को भी हम सभी में भरता है। दंगल फिल्म की कहानी के बारे में कृपा शंकर ने बताया कि हरियाणा के बलाली गांव के महावीर फोगाट के जीवन के जीवन पर आधारित है यह फिल्म। महावीर जो बेटे की चाहत रखता है पर उसके यहाँ बेटियां ही जन्म लेती है। वह अपनी बेटियों को ही बेटों की तरह कुश्ती सिखाता हैं जबकि की पूरा गांव ही उसके खिलाफ हो जाता है। क्योंकि वहाँ लड़कियों को सिर्फ घर तक ही सिमित रखा जाता था।

कृपा शंकर ने कहा कि वह बेटी पैदा होने से पहले ही गर्भ में उसकी हत्या कर दी जाती थी लेकिन महावीर ने उन सभी परिस्थियों से लोहा लेते हुए अपनी बेटियों को एक बेहतरीन रेसलर बनाया। उन्होंने कहा कि दंगल एक पिता के जूनन की कहानी हैं साथ ही यह फिल्म राष्ट्रीय भावना से भी हमें जोड़ती है उन्होंने कहा कि जब कामनवेल्थ गेम्स में लड़कियां जीत रही है तिरंगा सब से ऊपर लहरा रहा है। आमिर ने इस फिल्म में एक पिता और पुत्री के रिश्ते को बेहतर ढंग से निभाया है इस फिल्मे कॉमेडी में और इमोशन भी। आमिर के साथ काम करने बहुत कुछ सीखने को मिला है।

वही आज के इस प्रेरणादाई आयोजन की सूत्रधार खंडवा की कलेक्टर ने ही बच्चियों का हौसला बढ़ाया। श्रीमती नायक ने कहा कि लड़कियों को मोटिवेट करने के उद्देश्य से आज इस स्पेशल शो को स्क्रीन किया गया है। खंडवा बेटियों ने भी राष्ट्रीय और अंतररार्ष्ट्रीय स्तर पर नाम रोशन किया है अभी जो लड़कियां विभिन्न खेलों में हिस्सा ले रही है वह भी इस फिल्म को देख कर प्रेरणा ले और खंडवा के साथ साथ ही देश का नाम भी रोशन करें। इसलिए खेलयुवा विभाग और पुलिस विभाग के साथ मिल कर आज इस स्पेशल शो को रखा है।

उन्होंने कहा कि फिल्म देखने आई बच्चियों से बहुत अच्छा रिस्पांश मिला है। हम जिला प्रशासन की और से कमर्शियल टेक्स विभाग को एक प्रपोजल भेजेंगे कि इस फिल्म को एंटरटेनमेंट टैक्स फ्री किया जाए। श्रीमती नायक ने कहा कि दंगल बहुत अच्छी फिल्म है इसे हर किसी को देखना देखना चाहिए ताकि वह इस फिल्म से कुछ सीख सकें।

पुलिस अधीक्षक खंडवा ने कहा कि दंगल फिल्म देखने के बाद मन में आया कि हमारे जिले की बेटियों को भी यह फिल्म देखनी चाहिए। इस आयोजन का मूल उद्देश्य यही है कि लड़कियों को अपने परिवार का प्रदेश का और देश का नाम रोशन करने के लिए प्रेरित किया जाए। आमिर खान की फिल्म दंगल का भी यही संदेश है। इसी उद्देश्य से आज इस शो का आयोजन किया हैं। ताकि लड़कियां भी खेलों के प्रति आगे आए और देश का नाम रोशन करें।

जिला प्रशासन के इस सराहनीय आयोजन में उप पुलिस अधीक्षक गोपाल खांडेल, अमर यादव, अशोक पटेल ,सुनील जैन सहित कई गणमान्य नागरिक मौजूद थे। दंगल फिल्म के इस स्पेशल शो में लगभग 600 से ज्यादा लड़कियों ने फिल्म देखी।
रिपोर्ट- @निशात सिद्दीकी




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com