Home > India News > मध्य प्रदेश में अमानक खाद को लेकर राजनीति शुरू

मध्य प्रदेश में अमानक खाद को लेकर राजनीति शुरू


खंडवा: मध्य प्रदेश के खंडवा में अमानक खाद को लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है । किसानों को अमानक खाद वितरण को लेकर खण्डवा विधायक ने भाजपा कार्यकर्ता के साथ ज्ञापन देकर उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

विधायक देवेन्द्र वर्मा ने कहा कि किसानों के साथ हो रही यह धोखाधड़ी बड़ी घटना है इसकी थर्ड पार्टी से जांच होना चाहिए। वही कलेक्टर ने कहा कि सेम्पल में दो कम्पनी की खाद अमानक पाई गई है जिसमे से एक कम्पनी का ही खाद पिछले साल ही किसानों के चला गया था उपयोग भी हो गया जितना बचा है उसे सुसएटी सेवापस बुलवाने के निर्देश दिए है।

खण्डवा विधायक देवेंद्र वर्मा ने ज्ञापन देने के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि कांग्रेस किसानों की हमदर्द पार्टी बताती है लेकिन हम देख रहे हैं कि कांग्रेस सरकार किसानों के साथ लगातार धोखा किया जा रहा है। कर्ज माफी दस दिन में करने की घोषणा भी फ्लाप साबित हुई है और कई किसानों का कर्जा आज तक माफ नहीं हुआ है।

वहीं संकट झेल रहे किसानों के साथ अमानक खाद का मामला भी उनके साथ विश्वासघात है। पर्याप्त बिजली होने के बावजूद पूरे जिले में शहर से लेकर गांव तक कटौती यह दर्शाती है कि चिमनी युग फिर से आने वाला है। अमानक खाद वाले में मामले सरकार द्वारा ठोस निर्णय नहीं लिया गया तो हम अन्नदाता किसानों के साथ सड़कों पर उतरेंगे और विधानसभा में भी पूरे मामले को पूरी ताकत के साथ उठाएंगे।

विधायक वर्मा ने ज्ञापन में कहा गया कि खंडवा और बुरहानपुर जिले की 155 सोसायटियों के माध्यम से किसानों को असली खाद बताकर 20 हजार टन अमानक खाद का विक्रय किया।

अफसरों द्वारा सरकारी विपणन संस्था के गोदाम से सेम्पल लिया था, जो जांच में अमानक पाया गया। जिला सहकारी बैंक द्वारा अमानक खाद पहुंचाया जा रहा है, उक्त खाद की बिक्री सोसायटियों के माध्यम से तत्काल रोकी जाए।

यह खाद अमानक होने के कारण किसानों को करोड़ों रूपए की चपत लगी है। इसकी जांच कर जो किसानों ने अमानक खाद खरीदा है उस राशि का समायोजन किसानों के खाते में दी जाए। जिन अधिकारी एवं कंपनी की मिलीभगत है उन पर ओर कंपनी के गोदामों पर छापा डालकर अमानक खाद जप्त किया जाए एवं दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

वही कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल ने कहा कि सेम्पल में दो कम्पनी की खाद अमानक पाई गई है जिसमे से एक कम्पनी का ही खाद पिछले साल ही किसानों के चला गया था उपयोग भी हो गया जितना बचा है उसे सुसएटी सेवापस बुलवाने के निर्देश दिए है।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com