Home > India News > कृषि विभाग में फील्ड अमला कम, फसल बीमा के लिए परेशान किसान

कृषि विभाग में फील्ड अमला कम, फसल बीमा के लिए परेशान किसान


खंडवा : वर्तमान में जिले में अतिवृष्टि हो रही है औसतन वर्षा से कई गुना ज्यादा वर्षा हो चुकी है लगभग 2 माह से सूर्य देवता के दर्शन नहीं हुए इस कारण से खरीफ वर्ष 2019-2020 की समस्त जिले में सोयाबीन, कपास, मक्का, दलहनी फसलें व साग-भाजी आदि फसलें प्रभावित है साथ ही कीट व्याधि से भी उत्पादन निश्चित रूप से प्रभावित होगा।

समस्त कृषकों की ओर से अपील की है कि समस्त बीमा किए हुए फसलों में फसल बीमा दिया जाए क्योंकि इफको-टोकियो कम्पनी द्वारा जिले में मात्र दो ही प्रतिनिधियों को नियुक्त किया गया है टोल फ्री नंबर वाली कार्रवाई भी बड़ी जटिल है हर कृषक द्वारा यह संभव नहीं उन्हें ओटीपी प्राप्त करने में भी 3 से 4 दिन लग जाते हैं।

जनसुनवाई मे कृषकों ने निवेदन है कि कंपनी द्वारा हर ग्राम के लिए एक प्रतिनिधि नियुक्त करें जो कृषक लाभ हेतु बीमा कार्रवाई कर सके, क्योंकि कृषि विभाग व राजस्व विभाग में फील्ड अमला कम है एक-एक ग्राम विस्तार अधिकारी के पास 12 से लेकर 24 तक राजस्व ग्राम है जो कि समय रहते किसानों के खेतों मे पहुचकर नष्ट हुई फसलों का आकलन कर बीमा कंपनी से उन्हें फसल बीमा का लाभ दिला सके यह संभव नहीं है।

किसान रामनारायण वर्मा राई ने बताया है कि उनके द्वारा कंपनी के टोल फ्री नंबर 1800-103-5499 पर फोन लगाया गया तो किसी ने भी नहीं उठाया।अब हम फसल नुकसानी की सूचना कैसे दे।

किसान प्रवीण मौर्य राई ने बताया है कि उनके द्वारा फसल बीमा कंपनी के एजेंट से बात की गई तो उन्होंने बताया कि आप कंपनी के टोल फ्री नंबर पर बात करें तब हमें कंपनी निर्देशित करेगी तब हम आपके खेत का निरीक्षण करेंगे कर नष्ट हुई फसल का आकलन कर सकेंगे। अतःकिसानों ने कहा है की यह प्रक्रिया बड़ी जटिल है साथ ही बैंक प्रबंधक भी बीमा काटने के बाद हमारी किसी प्रकार से सहायता नहीं करते।
@राम कसेरा

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com