खंडवा : इमलीपुरा के क्षेत्र में अवैध रूप से अतिक्रमण कर बने स्लाटर हाउस और मकानों को तोडऩे के लिए गुरुवार को प्रशासन, पुलिस और नगर निगम की टीम ने संयुक्त रूप से मैदान में उतरी।

लगभग 200 से अधिक पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में कार्रवाई की। लगभग 19 मकान अतिक्रमण की जद में है जिन पर कार्रवाई की जाना है। एक मकान को तोडऩे के लिए जैसे ही जेसीबी लगाई गई तो महिलाएं विरोध में उतर आई उन्होंने कहा कि मकान को तोड़ा तो उन्हें हमारी लाश से गुजराना होगा। लेकिन भारी पुलिस की मौजूदगी में अतिक्रमणकारियों की एक नहीं चली और कार्रवाई की गई।

पुलिस ने लगभग एक माह पहले यहां कार्रवाई कर अवैध रूप से संचालित हो रहे स्लाटर हाउस पर कार्रवाई की थी। आसपास के रहवासियों ने शिकायत की थी कि इमलीपुरा के कई क्षेत्र में लोगों ने अतिक्रमण कर लिया है जिससे परेशानी होती है। इसको देखते हुए गुरुवार को पुलिस ने कार्रवाई की।

विरोध में उतरी महिलाएं

प्रशासन ने इमलीपुरा इलाके में स्थित स्लाटर हाउस के आसपास अवैध रूप से बने टप्परों को हटाया और इसके बाद 19 मकान जो अतिक्रमण की जद में उन पर कार्रवाई की तो महिलाएं विरोध में उतर आई उनका कहना था कि हम कई सालों से रह रहे है और जमीन के कागज भी फिर क्यों कार्रवाई की जा रही है।

महिलाओं ने कहा कि यदि मकान तोड़ दोगे तो हम कहां जाएंगे। यदि हमारा मकान तोड़ा तो हमारी लाश से गुजरना होग। इसके विरोध वे बच्चों के साथ मकान के बाहर खड़ी हो गई। इसके बाद अधिकारियों ने महिलाओं को समझाया लेकिन वे नहीं मानी, विरोध करती रही।

200 से ज्यादा पुलिसकर्मी लगे कार्रवाई में

गुरुवार सुबह पुलिस अधीक्षक ने 200 से अधिक पुलिस जवानों को पुलिस लाइन बुलाया। किसी को इस बात की जानकारी नहीं थी, कि इमलीपुरा में कार्रवाई की जाना है।

इसके बाद नगर निगम आयुक्त, एसडीएम, पटवारी सहित अन्य अधिकारियों के साथ टीम मौके पर पहुंची और कार्रवाई की।