Home > Crime > खंडवा राजेश जैन अपहरण : भदौरिया गैंग का ईनामी धराया

खंडवा राजेश जैन अपहरण : भदौरिया गैंग का ईनामी धराया

khandwa police

खंडवा [ TNN ]  कुख्यात सुधीर भदौरिया गैंग ने राजेश जैन खंडवा का अपहरण किया था इस मामले में पुलिस विभाग की तत्परता से भदौरिया गैंग के 5 आरोपी गिरफ्तार किए गए थे इन्हीं आरोपियों के दो अन्य साथी तिवारी और रिपुसूदन दोनों फरार थे, सूचना के आधार पर भदौरिया गैंग के रिपुसूदन गौतम को पुलिस टीम ने धर दबोचा |

 उत्तरप्रदेश के भदौरिया गैंग का एक और मुख्य सदस्य खंडवा पुलिस के हत्थे चढ़ा। यह आरोपी अपने अन्य साथी के साथ राजेश जैन के परिजनों को गवाही बदलने के लिए धमकाने की फिराक में था और इसी मकसद से खंडवा आया था। रिपुसुदन गौतम खंडवा के सराफा व्यापारी राजेश जैन के अपहरण कांड में फरार था। यही वह आरोपी है जिसके निवास पर फरीदाबाद में राजेश जैन को बंधक बनाकर रखा गया था। 

पुलिस जब इस गैंग को पकडऩे पहुंची थी तब सुधीर भदौरिया अपने चार साथियों के साथ पकड़ा गया था लेकिन रिपुसुदन और एक अन्य आरोपी फरार हो गए थे तभी से पुलिस को इसकी तलाश थी।

खंडवा पुलिस को पिछले दिनों सूचना मिल रही थी कि सुधीर भदौरिया के केस में गवाही बदलने के लिए उसके अन्य साथी राजेश जैन के परिवार वालों को धमकाने की फिराक में हैं और इसके लिए वह राजेश जैन के परिवार वालों को निशाने पर ले सकते हैं।

पुलिस ने इस सूचना को गंभीरता से लेते हुए एक जाल बिछाया और छैगांवमाखन तिराहे पर इसे धरदबोचा इसके साथ मोटरसाइकल पर आया दूसरा आरोपी फरार हो गया। पुलिस ने इसके पास से एक देशी कट्टा व दो जिंदा कारतूस एवं फर्जी लायसेंस बरामद किया और जिस मोटरसाइकल से वह आया था उसे भी जप्ती में लिया है। सुधीर भदौरिया को खंडवा जेल ब्रेक कांड के बाद यहां से स्थानांतरित कर दिया था फिलहाल वह उज्जैन जेल में बंद है। उसके अन्य साथी अलग-अलग जेलों में रखे गए हैं।

पत्रकारवार्ता में पुलिस ने बताया
कुख्यात भदौरिया गैंग के बदमाश 18 से 20 मई के मध्य खंडवा आकर जैन परिवार को धमकाने एवं नुकसान पहुंचाने का प्रयास कर सकते है। उल्लेखनीय है कि थाना कोतवाली खंडवा के अपराध क्रमांक 464/13 धारा 364 (क), 149, 328, 120 बी, 420, 171, 472, 473 भादवि एवं 25/27 आम्र्स एक्ट, 3/5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम में पुलिस द्वारा उत्तरप्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर सुधीर भदौरिया एवं साथियों को गिरफ्तार किया था। उक्त सूचना के आलोक में पुलिस द्वारा विभिन्न थाना क्षेत्रों में सतत निगरानी रखी जा रही थी।

टीम द्वारा थाना छैगावमाखन में वाहन चेकिंग कराई गई। चेकिंग के दौरान मोटरसायकल क्रमांक एमपी 09 एनएन 9990 पर सवार दो व्यक्ति मोटरसायकल छोड़कर भागे। जिन्हें पकडऩे के लिये पुलिस द्वारा घेराबंदी की गई, एक संदिग्ध भीड़ का लाभ लेकर भाग गया। दूसरे संदिग्ध को घेराबंदी कर पकड़ा गया, बाद थाना लाकर पूछताछ की गई, तो संदिग्ध ने अपना राजेश कुमार बताया।

संदिग्ध के हिकमत अमली से पूछताछ करने पर संदिग्ध ने अपना असली नाम रिपुसूदन गौतम पिता लोकेन्द्र गौतम निवासी इमलिया थाना बरहर जिला आगरा (उ.प्र.) बताया। रिपुसूदन थाना कोतवाली खंडवा के अपराध क्रमांक 464/13 का सह अभियुक्त होकर फरार था, पूछताछ पर आरोपी ने अपह्त राजेश जैन व उसके परिवारजनों को जान से मारने का भय देकर पक्ष में गवाही बदलवाने हेतु खंडवा आना बताया।

आरोपी से यह चीजें हुई बरामद
आरोपी के कब्जे से मोटरसायकल, एक देशी कट्टा, दो जिंदा कारतूस, मोबाईल, फर्जी ड्रायविंग लायसेंस एवं अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किये गये।
उत्तरप्रदेश में लगभग 20 अपराध दर्ज है भदौरिया गैंग पर 

आरोपी रिपुसूदन, सुधीर भदौरिया गैंग का सदस्य है, जो गैंग के द्वारा घटित विभिन्न आपराधिक प्रकरणों में सह आरोपी है। आरोपी ने गैंग के साथ शहर की ग्रामीण बैंक में 29 लाख की डकैती, लखनऊ में सोना-चांदी की दुकान पर 4-5 किलो सोना लूटना, आगरा में पुलिस जवान की हत्या, इंदौर में एक हवाला व्यापारी की गोली मारकर हत्या करने तथा करीब 11 लाख रूपये की लूट की घटना, घटित करना स्वीकार किया है। जिसके ऊपर लूट, हत्या, अपहरण जैसे गंभीर अपराध दर्ज हैं। थाना कोतवाली खंडवा के अपराध क्रमांक 464/13 के अपह्त राजेश जैन को सुधीर भदौरिया गैंग द्वारा रिपुसूदन के फरीदाबाद स्थित फ्लैट पर ही बंधक बनाकर रखा गया था। 

इनकी रही महत्वपूर्ण भूमिका
राजेश जैन के सनसनी खेज अपहरण कांड के आरोपी रिपुसूदन को पकडऩे में नगर पुलिस अधीक्षक खंडवा अभिषेक दीवान, निरीक्षक शरीफ खान थाना प्रभारी छैगांवमाखन, सउनि पाटीदार, सउनि दवाने, सउनि तिवारी, प्रधान आरक्षक हिफाजत अली, हरिकरण सोनी, राधेश्याम, बलराम यादव, आरक्षक अनिल, राजकुमार, मुकेश, कृष्णा, अंतिम, अमर, दीपक, योगेश, प्रेमशंकर एवं सुनील की महत्वपूर्ण भूमिका रही। उपरोक्त अधिकारी/कर्मचारियों को उत्साहवर्धन हेतु उचित पुरस्कृत किया जायेगा।

सुरक्षा की मांग
जैन समाज के सचिव सुनील जैन ने इस घटना को लेकर पुलिस प्रशासन की कार्यवाही की सराहना की एवं भदौरिया ग्रुप के पूर्व में पकड़े गए अपराधी व मंगलवार को पकड़े ग्रुप सदस्य को पुलिस प्रशासन ने योजनाबद्ध तरीके से गिरफ्तार किया जिसकी प्रशंसा समाजजनों ने की है। सुनील जैन व सामाजिक बंधुओं ने पुलिस प्रशासन से अनुरोध किया कि घटना की गंभीरता को देखते हुए राजेश जैन की सुरक्षा व्यवस्था की जाए।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com