Home > Foregin > किम जोंग ने तय किया अमेरिका की तबाही का वक्त

किम जोंग ने तय किया अमेरिका की तबाही का वक्त

अमेरिका और उत्तर कोरिया में जारी तनाव के माहौल के बीच किम जोंग ने एक ऐसा फैसला लिया है जो दोनों देशों के बीच टेंशन बढ़ा सकता है। न्यूज एजेंसी रायटर के मुताबिक उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने अमेरिकी द्वीप गुआम की तबाही का समय मुकर्रर कर दिया है। हमले के तय कार्यक्रम के मुताबिक उत्तर कोरिया बैलेस्टिक मिसाइलों से अमेरिकी द्वीप को नेस्तनाबूद करेगा। इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वे उत्तर कोरिया पर इतने बम बरसाएंगे कि दुनिया ने पहले कभी नहीं देखी होगी।

उत्तर कोरियाई सरकार की समाचार एजेंसी केसीएनए ने कोरियन पीपुल्स आर्मी कमांडर के हवाले से बताया है कि गुआम को निशाने पर लेने की योजना अगस्त के मध्य तक पूरी कर ली जाएगी। इसके बाद देश के सर्वोच्च नेता किम जोंग के एक इशारे पर गुआम में बैलेस्टिक मिसाइलें तबाही मचा देंगी।

उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया की मिसाइलें महज 14 मिनट में गुआम में चारों तरफ आग फैला देंगी। पीपुल्स आर्मी कमांडर ने अमेरिकी धमकियों को बकवास करार देते हुए कहा कि मध्यम दूरी के चार बैलेस्टिक मिसाइल छोड़े जाएंगे।

ये हमले की पूरी प्लानिंग: ‘हआसोंग-12’ नाम के मिसाइल जापान के शिमाने, हिरोशिमा और कोइची पर से गुजरेंगे। ये 1065 सेकेंड में 3356.7 किलोमीटर की दूरी तक मार कर सकेंगे। इसके अलावा गुआम से 30-40 किलोमीटर पहले तक पानी में भी मार कर सकने में सक्षम होंगे।

‘अमेरिका को उसी की भाषा में जवाब देंगे’: उत्तर कोरिया की पीपुल्स आर्मी कमांडर ने यहां तक कह डाला है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जैसे व्यक्ति केवल शक्ति की भाषा समझते हैं। ट्रंप के साथ स्वस्थ संवाद संभव नहीं है।

ट्रंप भी दे चुके हैं धमकी: पिछले दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी भरे लहजे में कहा था कि अमेरिका उत्तर कोरिया पर इतने बम गिराएगा जिसे पहले दुनिया ने कभी देखी नहीं होगी।

इसके जवाब में अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने भी कहा था कि उत्तर कोरिया विनाश को आमंत्रण न दे। वहीं गुआम में मौजूद अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने देशवासियों को आश्वस्त किया कि उत्तर कोरिया से कोई गंभीर खतरा नहीं है। अमेरिकियों को रात को अच्छी नींद सोनी चाहिए। टिलरसन ने भरोसा जताया कि रूस व चीन के साथ मिलकर बना वैश्विक दबाव प्योंगयांग के साथ नये संवाद के रास्ते खोलेगा। दूसरी ओर गुआम में जनजीवन सामान्य है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com