जानिए ओंकारेश्वर मंदिर में हुई भगदड़ का सच

0
14

खंडवा : ओंकारेश्वर मंदिर परिसर में एक सांड (नंदी) घुस जाने से कुछ देर के लिए भक्तों में हड़कंप मच गया। हालांकि इस सांड ने किसी को नुकसान नही पहुँचाया और मंदिर के कर्मचारियों ने उसे रास्ता देकर बाहर निकाल दिया।

घटना बुधवार रात 9 बजे की है जब मंदिर में शयन आरती की तैयारी चल रही थी। मंदिर प्रशासन सहित जिला पुलिस अधीक्षक ने घटना को कोरी अफवाह बताया हैं।

जिस समय यह घटना हुई उसी समय म प्र विधायकों की समिति भी मंदिर में दर्शन करने आई थी। दर्शन और आरती कर सभी विधायक सकुशल वापस लौट गए। हालांकि नंदी और इन विधायकों के रास्ते अलग अलग थे लेकिन प्रशासन की सुरक्षा की खामिया तो उजागर हो गई।

रात का समय होने से ज्यादा भीड़ भी नही थी और नंदी भी अक्सर इस भीड़ में आने जाने का आदि था। संभवतः इसीलिए किसी को कोई नुकसान नही पहुचा। ज्यादा भीड़ के दौरान ऐसा होता तो मामला गंभीर हो सकता था।

स्थानीय लोगो का कहना है कि मंदिर के आसपास के लोगों के आने जाने का एकमात्र रास्ता मंदिर परिसर से ही गुजरता है। इसी रास्ते से इंसान और जानवर भी आना जाना करते है। मंदिर परिसर की कोई बाउंड्री वाल भी नही है। इस कारण ऐसे नजारे अक्सर देखने को मिलते है।

खंडवा पुलिस अधीक्षक रूचिवर्धन मिश्र ने बताया की रात के समय मंदिर के बाहर की सीढ़ियों पर एक सांड (नंदी) आ गया था। लोगों ने उसे रास्ता दे कर उसे निकल दिया। जहा तक विधायकों की सुरक्षा का सवाल है वे लोग इस घटना के पहले ही दर्शन कर के अपने गंतव्य की और जा चुके थे।

उन्हें किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं था। उन्होंने कहा की नगर पंचायत को कहा जायगा की आवारा पशुओं को पकड़ कर अलग स्थान पर रखा जाए।