Home > Sports > Cricket > विराट, सचिन से तुलना करने के लिए काफी युवा हैं- पोंटिंग

विराट, सचिन से तुलना करने के लिए काफी युवा हैं- पोंटिंग

sachin tendulkar_virat kohliनई दिल्ली- आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने भारतीय बल्लेबाज विराट कोहली की जमकर तारीफ की और कहा कि विराट में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने के सारे गुण मौजूद हैं। दिग्गज बल्लेबाज पोंटिग ने भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान को ‘अति-प्रतिभाशाली’ कहा।

अपनी टीम को दो बार विश्व कप दिलाने वाले आस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा कि कोहली और आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ इस समय करियर के एक ही दौर से गुजर रहे हैं। उन्होंने इंग्लैंड के जोए रूट और न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियिमसन को भी इन दोनों बल्लेबाजों की श्रेणी का बताया।

हालांकि पोंटिंग का मानना है कि इन सभी खिलाड़ियों में जो मानसिक तौर पर मजबूत रहेगा उसका करियर बाकि खिलाड़ियों से बेहतर होगा।

पोंटिंग ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “विराट के पास एकदिवसीय करियर में बढ़त हासिल है। हम सभी देख चुके हैं कि उन्होंने पिछले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में कैसा प्रदर्शन किया। वह अति-कुशल और प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं लेकिन उससे भी महत्वपूर्ण उनके पास अपने देश के लिए सर्वश्रेष्ठ बनने और करने की सोच है। स्मिथ के पास भी यह काबिलियत है।”

उन्होंने कहा, “जब तक कोहली और स्मिथ अच्छा खेल रहे हैं तब तक मेरे लिए यह मायने नहीं रखता की कौन बेहतर है। विलियमसन एवं रूट, यह सभी खिलाड़ी एक ही दौर से गुजर रहे हैं। इनमें से जो भी मानसिक तौर पर मजबूत रहेगा वह बेहतर रिकार्ड के साथ करियर का अंत करेगा।”

कोहली ने अब तक कुल 37 अंतर्राष्ट्रीय शतक लगाए हैं जबकि रूट, स्मिथ और विलियमसन ने क्रमश: 18, 20, और 21 शतक लगाए हैं।

पोंटिंग इसी बीच दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और कोहली की तुलना करने से बचते दिखे। उन्होंने कहा कि कोहली अभी काफी युवा हैं।

उन्होंने कहा, “विराट को पहले अपना करियर समाप्त करने दीजिए। वह सचिन से तुलना करने के लिए काफी युवा हैं। अगर उन्हें कल चोट लग जाती है तो कोई तुलना नहीं होगी। सचिन ने 200 टेस्ट मैच खेले हैं जबकि विराट ने अभी तक 60-70 टेस्ट मैच ही खेले हैं।”

पोंटिंग ने साथ ही कहा कि खेल के हर प्रारूप में अलग कप्तान रखने का फैसला भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और भारत के सीमित ओवरों की टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का अपना फैसला है।

उन्होंने कहा, “मेरे विचार मायने नहीं रखते। बीसीसीआई और धौनी इस बारे में क्या सोचते हैं, यह इस पर निर्भर करता है। लेकिन इस समय ऐसा नहीं लगता कि धौनी एकदिवसीय और टी-20 टीम की कप्तानी नहीं करना चाहते।”

पोंटिंग ने इस बात को मानने से साफ इनकार कर दिया कि आस्ट्रेलिया की मौजूदा टेस्ट टीम इस समय संघर्ष के दौर से गुजर रही है। पोंटिंग ने माना कि 2017 में भारत के खिलाफ होने वाली श्रृंखला स्मिथ की टीम के लिए कड़ी चुनौती होगी।

उन्होंने कहा, “मैं नहीं मानता की आस्ट्रेलिया की मौजूदा टीम खराब दौर से गुजर रही है। वह जल्द ही भारत के खिलाफ खेलेंगे और यह उपमहाद्वीप में उनके लिए चुनौती होगी। देखना होगा कि वह टेस्ट मैचों में कैसे इस परिस्थिति का सामना करते हैं।”

पोंटिंग ने कहा, “अगर आप श्रीलंका के खिलाफ हुई श्रृंखला को देखें तो यह बुरी थी। लेकिन आस्ट्रेलियाई टीम पिछले 10 वर्षो में शीर्ष तीन टीमों में बनी हुई है।”




Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com