Home > India News > बुरहानपुर : सूखी नदी में अचानक आई बाढ़, तीन घंटे फंसे रहे सात मजदूर

बुरहानपुर : सूखी नदी में अचानक आई बाढ़, तीन घंटे फंसे रहे सात मजदूर

बुरहानपुर : क्षेत्र में तीन दिन से जारी बारिश के कारण नदी-नालों में उफान बरकरार है। रविवार को हुई तेज बारिश के कारण निंबोला थाना क्षेत्र की सूखी नदी में अचानक बाढ़ आ गई। मससे वहां पुलिया निर्माण कर रहे सात मजदूर फंस गए।

करीब तीन घंटे तक पुलिया के लिए बनाए गए पिलर पर चढ़कर मजदूरों ने अपनी जान बचाई। बाद में निंबोला टीआई जगदीश सिंधिया और उनकी टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू दल को इसकी सूचना देकर बुलाया।

रेस्क्यू दल ने करीब एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद ट्यूब व रस्सी की मदद से मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकाला।

इस बीच सूचना मिलने पर कलेक्टर राजेश कौल एसडीएम, तहसीलदार व अन्य अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार निंबोला थाना क्षेत्र के बसाड़ फाटे से अंदर नेपा मार्ग से गुजरने वाली सूखी नदी में पुलिया निर्माण का काम चल रहा है।

इसके लिए कुछ मजदूर नदी के बीच ही टपरी बनाकर रह रहे थे और यहीं काम कर रहे थे। रविवार सुबह से नदी के ऊपरी हिस्से और जिला मुख्यालय में तेज बारिश हो रही थी। इसके कारण दोपहर करीब 12 बजे नदी में अचानक बाढ़ आ गई।

मजदूरों को इस बात का जरा भी अंदेशा नहीं था कि अचानक इतना पानी नदी में आ जाएगा। जैसे ही उन्होंने पानी बढ़ता देखा वे पिलर पर खड़े हो गए और मजबूरी से सरिया पकड़ लिया।

इस बीच एक मजदूर ने अपने फोन से परिचित को फंसने की सूचना दी और वहां से यह सूचना दोपहर करीब एक बजे निंबोला थाने तक पहुंची। इसके बाद मजदूरों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला गया।

रामप्रसाद पिता सुग्रीव यादव, पूनम पिता समता बोगा, घनश्याम पिता भोलाराम विश्वकर्मा, रामवेसवक पिता भोलाराम विश्वकर्मा सभी निवासी कटनी, श्रीधर पिता राजकु मार मोहंती निवासी ओडिशा, श्रवण पिता पन्न्ालाल बंजारा निवासी नीमच एवं गणेश पिता मोतीराम गोस्वामी निवासी नागझिरी को बाढ़ से सुरक्षित निकाला गया।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com