42 साल की एक महिला का दिल 21 साल के युवक पर आ गया, तो उसके लिए वह अपने ही बेटे की कातिल बन गई। वह इश्क में ऐसे अंधी हुई कि खौफनाक साजिश रच डाली।

मामला हरियाणा के झज्जर का है। प्रेमी के साथ अवैध संबंधों में बेटा रोड़ा बन रहा था, तो उसने प्रेमी और उसके साथियों के साथ मिलकर बेटे की हत्या करवा दी।

चमनपुरा गांव में गत 20 फरवरी को हुए इस हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। कार्रवाई करते हुए पुलिस ने महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया और पूरे मामले का खुलासा किया।

ऐसे रची गई साजिश

पुलिस के मुताबिक, मृतक प्रमोद और चढ़वाना गांवा निवासी प्रदीप गुरुग्राम में बाउंसर की नौकरी करते थे। दोनों की आपस में अच्छी दोस्ती थी, इस नाते प्रदीप उनके घर आने-जाने लगा।

इस बीच प्रमोद की मां और प्रदीप में संबंध बन गए। लेकिन कुछ समय बाद प्रमोद ने नौकरी छोड़ दी और वह घर पर ही रहने लगा।

ऐसे में प्रदीप का उसके घर आना-जाना मुश्किल हो गया। समस्या का हल निकालने के लिए प्रदीप ने प्रमोद की मां के साथ मिलकर उसे ठिकाने लगाने की योजना बना ली।

इसके लिए प्रमोद की मां ने कहा कि वह घर का दरवाजा खुला छोड़ देगी। फिर प्रदीप घर में घुसकर वारदात को अंजाम दे देगा। इस हत्याकांड में प्रदीप के साथियों ने उसकी मदद की।