जम्मू-कश्मीर में आतंकी वारदातों को अंजाम देने की कोशिश को नाकाम करने में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की सुरक्षा में सेंध लगाने की कोशिश को नाकाम कर दिया गया है । सुरक्षाबलों ने लश्कर के बड़े मॉड्यूल का भांडाफोड़ किया है. लश्कर के 6 आतंकियों को गिरफ़्तार किया गया है । सुरक्षाबलों ने आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किए गए हैं । पुलिस के मुताबिक़, गिरफ़्तार किए गए लश्कर आतंकी पिछले हफ़्ते बारामूला शहर में तीन स्थानीय लोगों की हत्या में शामिल थे. आतंकियों के पास से हत्या में इस्तेमाल हथियार भी बरामद कर लिया गया है ।

पाकिस्तान की ओर से लगातार सुरक्षा में सेंधमारी करने के भरसक प्रयास किए जाते रहे हैं लेकिन सुरक्षा इकाइयों की सूझबूझ से किसी बड़े खतरे को टालने में कामयाबी हासिल हुई है । हाल ही में पाकिस्तान द्वारा उसकी जेलों में बंद आतंकवादियों को पाक सेना का जामा पहनाकर कश्मीर भेजने की खबर भी सामने आई थी इस लिहाज से आतंकियों या फिर ऐसे किसी भी संलिप्त संगठन पर नकेल कसने के लिए सरकार एकजुट है ।

आपको बता दें कि आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के गिरफ्तार आतंकवादी जबीउल्ला ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( एनआईए ) को बताया था कि वह सुरक्षाबलों पर ‘‘ बड़े पैमाने पर हमले ’’ करने के लिए भारत में घुसा था ।

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के अनुसार , उसने पूछताछ के दौरान एजेंसी से कहा कि वह इस साल मार्च में लश्कर के पांच अन्य सदस्यों के साथ सुरक्षाबलों को निशाना बनाने के लिए हथियारों के साथ भारत में घुसा था लेकिन उसके द्वारा हमला करने से पहले ही उनकी सुरक्षा बलों से मुठभेड़ हो गई जिसमें उसकी टीम के सदस्य मारे गये । इसने कहा , ‘‘ वह मुठभेड़ स्थल से फरार होने में कामयाब रहा. ’’ सुरक्षाबलों ने छह अप्रैल को जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के जुगियाल गांव से जबीउल्ला को गिरफ्तार किया था ।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के शोपियां के बदीगाम जैनपुरा में मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिज्बुल कमांडर सद्दाम पादर और कश्मीर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर मोहम्मद रफी बट्ट सहित 5 आतंकी ढेर किया था ।

जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी एसपी वैद्य ने बताया था कि मुठभेड़ में 5 आतंकी मारे गये थे. कुछ दिन पहले ही प्रोफेसर बट्ट आतंकवाद में शामिल हो गये थे. जिस समय सुरक्षाबलों ने इनके खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया वह हिजबुल कमांडर सद्दाम पाडेर से चुपचाप मुलाकात कर रहे थे ।