Home > State > Harayana > चंडीगढ़ में बनेगा एम्स जैसा फ्लाईओवर

चंडीगढ़ में बनेगा एम्स जैसा फ्लाईओवर

Like AIIMS flyover will be in Chandigarhचंडीगढ़ [ TNN ] शहर में दिल्ली साइड से आने वाले ट्रैफिक का दबाव कम करने के लिए प्रशासन ट्रिब्यून चौक (सेक्टर-29/इंडस्ट्रियल एरिया चौक) पर नई दिल्ली के एम्स दिल्ली की तर्ज पर कलोवरलीफ फ्लाईओवर बनाएगा। इसके बनने से चंडीगढ़, पंचकूला और मोहाली की ओर डायवर्ट होने वाला ट्रैफिक जाम में नहीं फंसेगा, बल्कि स्मूथली चलेगा। इस प्रपोजल को लेकर सोमवार को होम सेक्रेटरी अनिल कुमार की अध्यक्षता  में प्रशासन के आला अफसरों की मीटिंग हुई थी। इसके मिनट्स मंगलवार को अप्रूव किए गए।

 हाउसिंग बोर्ड लाइट पॉइंट पर भी ऐसा ही फ्लाईओवर बनाने की प्रेजेंटेशन दी गई। प्रपोजल पर होम सेक्रेटरी ने जल्द काम करने को कहा है ताकि ट्रैफिक जाम से निपटा जा सके। मीटिंग में होम सेक्रेटरी ने कहा कि दक्षिण मार्ग पर ट्रैफिक स्मूथली चलाने की पॉलिसी पर काम करें। रेलवे स्टेशन की ओर जाने वाले फोर लेन रोड पर जंगल वाले एरिया के 400 मीटर पर फेंसिंग की जाए। इंडस्ट्रियल एरिया साइड से एक लेन और रेलवे स्टेशन साइड को निकाली जाए।

  इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू होने पर बढ़ेगा ट्रैफिक

चंडीगढ़ एयरपोर्ट से इंटरनेशनल फलाइट शुरू होने पर ट्रैफिक और बढ़ेगा। इस लिहाज से इस जंक्शन पर ट्रैफिक दबाव को कंट्रोल करने के लिए क्लोवरलीफ फ्लाईओवर का प्रपोजल बनाया गया है।  इस जंक्शन पर 2010 में राइट ने 16 घंटे का सर्वे किया था। इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट ने इसी साल जनवरी में 12 घंटे का सर्वे किया था। मीटिंग में ये दोनों सर्वे रिपोर्ट देखी गई।
 
ट्रैफिक स्टडी ट्रिब्यून जंक्शन पर: 2010 में राइट का सर्वे
 
– सुबह 6 से रात 10 बजे तक 16 घंटे का सर्वे किया गया तो इस पॉइंट पर 1 लाख 43 हजार 170 व्हीकल गुजरते मिले।
– 8948 व्हीकल गुजरते हैं हर घंटे इस चौक से।

2014 में इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट का सर्वे

– सर्वे में पाया गया कि सुबह 8 से रात 8 बजे तक 1 लाख 35 हजार 151 व्हीकल गुजरते हैं इस राउंड अबाउट पर।
– वहीं, सुबह 6 से रात 10 बजे तक किए गए 16 घंटे के सर्वे में यहां से 1 लाख 80 हजार 251 व्हीकल गुजरते पाए गए।
– 11,262 व्हीकल हर घंटे गुजरते हैं इस पॉइंट से।
 
हाउसिंग बोर्ड लाइट पॉइंट: राइट का सर्वे (2010 में)
 
– सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक 16 घंटे में 1 लाख 48 हजार 481 व्हीकल
– 9280 व्हीकल प्रति घंटा
 
इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट का सर्वे

– सुबह 8 बजे से रात 8 बजे 12 घंटे में 1 लाख 40 हजार 668 व्हीकल
– सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक 16 घंटे में 1 लाख 87 हजार 557 व्हीकल
– 11,722 व्हीकल प्रति घंटा
 
– अभी प्रपोजल कंसल्टेंसी के लिए एम्स का फ्लाईओवर बनाने वाली कंपनी के पास जाएगी।
 
– वहां से ओके होने पर इसका एस्टीमेट बनाया जाएगा। इसे अपर स्टैंडिंग फाइनेंस कमेटी में अप्रूव कराना होगा। 
 
– कमेटी अप्रूव होने के बाद प्रपोजल को मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स में मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।
 
– टेंडर अलॉट होने पर काम शुरू होगा। इसके बाद फ्लाईओवर को बनने में कम से  कम ढाई साल लगेंगे।   

 

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com