Home > State > Delhi > EC ने किया 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान

EC ने किया 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान

election-commissionनई दिल्ली- चुनाव आयोग प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर रहा है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में इस साल चुनाव होने हैं। इन पांच राज्यों में 690 विधानसभा सीटों पर चुनाव होंगे। 5 राज्यों में 16 करोड़ मतदाता वोट डालेंगे। सभी को आईकार्ड दिए जाएंगे। 1 लाख 85 हजार पोलिंग स्टेशन होंगे। हर वोटर को रंगीन पर्ची दी जाएगी। पोलिंग बूथ के बाहर सभी जानकारियों पोस्टर पर दी जाएंगी। इस पर नियमों का उल्लेख होगा। बूथ पर वोटर्स की मदद के लिए गाइड होंगे। वोटर को फोटो वाली वोटर स्लिप मिलेगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने नसीम जैदी ने कहा कि गोपनीयता बनाए रखने के लिए 30 इंच ऊंची स्टील और अन्य सामग्री से बनी छोटी केबिन का इस्तेमाल किया जाएगा। ईवीएम में उम्मीदवारों की तस्वीर होगी। दिव्यांग वोटरों के लिए अगल व्यवस्था होगी। 690 में से 133 सीटें सुरक्षित हैं।

नसीम जैदी ने जानकारी दी कि उम्मीदवारों को नॉमिनेशन पेपर पर फोटो लगाना होगा और उनको भारत का नागरिक होना चाहिए। उनको शपथ पत्र देना होगा। चुनाव प्रचार के दौरान ध्वनि प्रदूषण और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाली सामग्रियों पर प्रतिबंध होगा। रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर पर रोक रहेगी। उम्मीदवारों को बताना होगा कि कोई बकाया नहीं है। बैंक में खाते खुलवाने होंगे. 20 हजार से ज्यादा खर्च करने पर चैक से पेमेंट करना होगा। यूपी, उत्तराखंड और पंजाब में उम्मीदवार 28 लाख खर्च करपाएंगे, जबकि गोवा और मणिपुर में 20 लाख खर्च करपाएंगे।

पांचों राज्यों में एक साथ चुनाव होंगे। गोवा में 5 फरवरी को चुनाव होंगे, पंजाब में भी 4 फरवरी को चुनाव होंगे। गोवा में नॉमिनेशन की आखिरी तारीख 14 जनवरी होगी। उत्तराखंड में 15 फरवरी को चुनाव होंगे. मणिपुर में दो चरणों में चुनाव होंगे। 4 और 8 मार्च को होगी वोटिंग।

चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस के मुख्य अंश
*सभी पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा और पंजाब में चुनाव होंगे।
*कुल 690 विधानसभा सीटों पर चुनाव होंगे। इनमें 133 सीट SC के लिए रिजर्व हैं: EC
*चुनाव आयोग साफ तौर पर चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है।
*16 करोड़ से ज्यादा लोग चुनावों में हिस्सा ले रहे हैं: EC
*मतदाताओं को कलरफुल वोटर गाइड भी उपलब्ध कराई जाएगीः EC
* मतदाताओं को कलरफुल वोटर गाइड भी उपलब्ध कराई जाएगीः EC
* पोलिंग बूथ के बाहर सभी जानकारियों पोस्टर पर दी जाएंगी। इसपर नियमों का उल्लेख होगाः EC
* मतदाताओं के सहयोग के लिए भी बूथ बनाए जाएंगेः EC
* गोपनीयता बनाए रखने के लिए 30 इंच ऊंची स्टील और अन्य सामग्री से बनी छोटी केबिन का इस्तेमाल किया जाएगाः EC
* मतदान को दिव्यांगों के अनुकूल बनाया जाएगाः EC
* सभी क्षेत्रों में मतदान जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगाः EC
* गोवा में वोट डालने के बाद एक पर्ची दी जाएगीः EC
*चुनाव आयोग की इस बार अनूठी पहल। डिफेंस, पैरा मिलिट्री फोर्सेस में तैनात जवान इलेक्ट्रॉनिक पोस्टल बैलट से डाल सकेंगे वोट
* उम्मीदवारों को नॉमिनेशन पेपर पर फोटो लगाना होगा और उनको भारत का नागरिक होना चाहिएः EC
* कुछ जगहों पर महिलाओं के लिए अलग से पोलिंग बूथ बनाए जाएंगेः EC
* चुनाव प्रचार के दौरान ध्वनि प्रदूषण और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाली सामग्रियों पर प्रतिबंध होगाः EC
* रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर पर रोक रहेगीः EC
* केंद्र की पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात किया जाएगाः EC
* उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में 28 लाख होगी चुनाव में खर्च की सीमाः EC
* मणिपुर में उम्मीदवार 20 लाख रुपये खर्च कर सकते हैंः EC
* उम्मीदवारों को बैंक में अकाउंट खोलवाना होगा और चंदे को यहां जमा कराना होगाः EC
* EC सोशल मीडिया को सपॉर्ट करेगी। इसका इस्तेमाल प्रशासनिक स्तर पर किया जाएगाः EC
* मीडिया मॉनिटरिंग कमिटी ध्यान रखेगी कि किसी उम्मीदवार की पब्लिसिटी तो नहीं की जा रही हैः EC
* कई जगहों पर EVM पर नाम के साथ उम्मीदवारों का फोटो भी दिखेगाः EC
* उम्मीदवारों को 20 हजार रुपये से ज्यादा का चंदा चेक से लेना होगाः EC
* आयोग मतदाताओं से सहयोग की अपेक्षा करता हैः EC
* सभी राज्यों के चुनाव एक साथ कराए जाएंगेः EC
*सभी राज्यों के चुनाव एक साथ कराए जाएंगेः EC
* गोवा में नॉमिनेशन की आखिरी तारीख 14 जनवरी।
* गोवा में 4 फरवरी को होंगे विधानसभा के चुनाव।
*गोवा और पंजाब में एक ही चरण में चुनाव होगाः EC
*पंजाब में भी 4 फरवरी को ही चुनाव होगाः EC
*उत्तराखंड में 15 फरवरी को होंगे विधानसभा के चुनावः EC
*मणिपुर में दो चरणों में मतदान कराया जाएगा। पहले चरण में 38 क्षेत्रों में चुनाव होगाः EC
*मणिपुर में पहले चरण के चुनाव 4 मार्च को होंगे।
*मणिपुर में पहले चरण के चुनाव 4 मार्च को होंगे।
*मणिपुर में दूसरे चरण के चुनाव 8 मार्च को होंगेः EC
*UP में 403 सीटों पर 7 चरणों में चुनाव होगा
*UP में 403 सीटों पर 7 चरणों में चुनाव होगा। पहले चरण में 73 सीटों पर मतदान होगा।
*यूपी में पहले चरण का मतदान 11 फरवरी को होगाः EC
*दूसरे चरण में 67 सीटों पर 15 फरवरी को मतदान होगाः EC
*UP में तीसरे चरण में 69 सीटों पर 19 फरवरी को मतदान होगाः EC
*UP में चौथे चरण में 53 सीटों पर 23 फरवरी को मतदान होगाः EC
*UP में पांचवे चरण में 52 सीटों पर 27 फरवरी को मतदान होगाः EC
*उत्तर प्रदेश में 6वें चरण में 15 तारीख को नॉमिनेशन की लास्ट डेट है। 4 मार्च को मतदान होगा।
*सातवें और आखिरी फेज में 7 जिलों में 40 सीटों पर 8 मार्च को मतदान होगा।
*मतदान के बाद वोटों की गिनती 11 मार्च को होगी। सारे राज्यों की काउंटिंग एक साथ होगी।
*EC ने ऐलान किया कि उत्तराखंड, गोवा और पंजाब में एक फेज में चुनाव होंगे। 4 फरवरी को पंजाब और गोवा में एक साथ चुनाव होंगे। उत्तराखंड में 15 फरवरी को मतदान। मणिपुर में पहला फेज 4 मार्च और दूसरा 8 मार्च को होगा। यूपी में 7 चरणों में मतदान होगा।

सुरक्षा तैयारियों पर हुई चर्चा
मंगलवार को हुई बैठक में मतदाता सूची और राज्यों में कानून व्यवस्था की समीक्षा की गई. चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक घोषणा से पहले सोमवार को आयोग ने अर्धसैनिक बलों के प्रमुखों के साथ भी बैठक की और सुरक्षा बलों की संख्या उनकी तैनाती और उनके एक जगह से दूसरी जगह जाने के कार्यक्रम की पूरी जानकारी ली, क्योंकि चुनाव के दौरान सुरक्षा बलों की तैनाती उनके परिवहन की पूरी कमान आयोग के ही हाथों में होती है लिहाजा हरेक जानकारी पूरी तौर पर पुख्ता कर ली गई.

इन राज्यों में होने हैं चुनाव
इस साल उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने हैं. इसमें यूपी को छोड़कर बाकी राज्यों की विधानसभा का कार्यकाल मार्च में पूरा हो रहा है.

कहां कितनी सीटें-
यूपी- 403
पंजाब- 117
उत्तराखंड- 70
गोवा- 40
मणिपुर- 60

एक लाख अर्धसैनिक बलों की तैनाती
उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनावों में राज्य पुलिस बलों के साथ एक लाख अर्धसैनिक बलों की तैनाती की जा सकती है। चुनाव आयोग ने केंद्रीय गृह मंत्रालय से कहा है कि अगले दो महीने में होने जा रहे विधानसभा चुनावों के लिए अर्धसैनिक बलों की 1,000 कंपनियां उपलब्ध कराई जाएं। हर कंपनी में 100 सुरक्षाकर्मी होते हैं। [एजेंसी]




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com