Home > Latest News > वीडियो : भारत बंद के दौरान खुलेआम पिस्टल से फायरिंग

वीडियो : भारत बंद के दौरान खुलेआम पिस्टल से फायरिंग

ग्वालियर : एससी/एसटी एक्ट को लेकर दलित संगठनों की ओर से भारत बंद के आह्वान पर पूरे देश में धरने प्रदर्शन हो रहे हैं। कई जगहों पर तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाएं भी हो रहीं है। मध्यप्रदेश में लोग हिंसा पर उतर आए आए हैं। ग्वालियर में भी फायरिंग की खबर मिल रही है।

ग्वालियर के एक इलाके में प्रदर्शनकारी असलहे लेकर भी सड़कों पर खुलेआम घूम रहे हैं और फायरिंग कर रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान ग्वालियर शहर में एक युवक द्वारा असलहा लेकर सरेआम फायरिंग का वीडियो वायरल हो रहा है।

वीडियो में यह युवक अपने रिवाल्वर से एक के बाद एक कई फायर कर रहा है। इतना ही नहीं वह लोगों को उकसा भी रहा है।

देश भर में दलित संगठनों के प्रदर्शन का जनजीवन पर व्यापक असर पड़ा है। मध्य प्रदेश में हिंसा में 6 लोगों की मौत हो गई है राजस्थान में 1 की मौत एमपी के मुरैना में  की मौत के बाद तीन शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसमें सागर और ग्वालियर भी शामिल है। मुरैना में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया। यहां पर लोगों ने गाड़ियों में आग लगाई और रेल परिचालन को बाधित कर दिया। दलित संगठन ने केन्द्र सरकार पर अनुसूचित जाति/जनजाति (एससी/एसटी) अत्याचार रोकथाम अधिनियम को कमजोर करने का आरोप लगाकर आज भारत बंद का ऐलान किया है।

हिंसा की चपेट में देश के कई शहर हैं। अलावा मेरठ, रांची, आगरा, भिंड में भी प्रदर्शन का असर देखने को मिला है। केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान के संसदीय क्षेत्र हाजीपुर में भी बड़े पैमाने पर आगजनी हुई है। यहां पर प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों में आग लगा दी और दुकानों में तोड़फोड़ की। गाजियाबाद में बड़ी संख्या में लोग सड़क पर निकले और केन्द्र पर दलितों के हितों को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया। जयपुर में भी प्रदर्शनकारियों ने कई दुकानों के शीशे तोड़ दिये।

बिहार के जहानाबाद, दरभंगा, आरा, अररिया, सहरसा, मधुबनी जिलों में बंद समर्थक रेल पटरियों पर बैठ गए, जिससे रेलों के परिचालन पर भी प्रभाव देखा जा रहा है। बंद समर्थकों ने कई ट्रेनें राक दी और हंगामा किया। इसके अलावा पूर्णिया, कटिहार, मधेपुरा, औरंगाबाद, मुजफ्फरपुर सहित विभिन्न जिलों में लोग सड़क जामकर सड़कों पर आगजनी की, जिससे वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस बंद को राजद, सपा, कांग्रेस, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, भाकपा (माले) और शरद यादव का समर्थन मिला है।

 

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .