Home > Live Tv > Videos > भारतीय सेना ने पाकिस्तान के VIDEO को फर्जी बताया

भारतीय सेना ने पाकिस्तान के VIDEO को फर्जी बताया

भारतीय सेना ने पाकिस्तान द्वारा भारतीय पोस्ट नष्ट करने के वीडियो को फर्जी बताया है। सेना का साफ कहना है कि भारतीय पोस्टो को एचवी दीवारें इतनी मोटी हैं कि रीकॉइलेस गन की फायरिंग आसानी से झेल सकती हैं। एएनआई ने सेना के सूत्रों के हवाले से कहा है कि जो धमाका पाक सेना के वीडियो में दिखाया गया है, वैसा आईईडी से किए गए धमाकों में होता है, आर्टिलरी फायर से नहीं।

सेना के मुताबिक, वीडियो में साफतौर पर छेड़छाड़ के निशान दिख रहे हैं। गौरतलब है कि भारतीय सेना ने सोमवार (22 मई) को एक वीडियो जारी किया था जिसमें कश्‍मीर के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी पोस्ट तबाह करते दिखाया गया था। हालांकि पाकिस्तान ने ऐसी किसी कार्रवाई से साफ इनकार किया था।

इसके बाद, मंगलवार को पाकिस्तानी मीडिया में एक वीडियो सामने आया जिसमें दावा किया गया था किपाकिस्तानी सेना ने भारतीय पोस्ट उड़ाई हैं। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया, ‘‘नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी चौकी को नष्ट करने और एलओसी के पास आम लोगों पर पाकिस्तानी सेना द्वारा गोलीबारी किए जाने के भारतीय दावे गलत हैं।

पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने सेना के फेसबुक पेज पर पोस्ट एक वीडियो के साथ एक संक्षिप्त बयान में आरोप लगाया कि भारत ने 13 मई को बेकसूर नागरिकों को निशाना बनाया। उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तानी सेना ने करारा जवाब देते हुए नौशेरा सेक्टर में भारतीय चौकियों को ध्वस्त कर दिया । यह कथित वीडियो 87 सेकेंड का है जिसमें दिखा है कि भारी गोलाबारी में भारत की कई चौकियां पूरी तरह तबाह हो गयीं।

सेना के मुताबिक, वीडियो में साफतौर पर छेड़छाड़ के निशान दिख रहे हैं। गौरतलब है कि भारतीय सेना ने सोमवार (22 मई) को एक वीडियो जारी किया था जिसमें कश्‍मीर के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी पोस्ट तबाह करते दिखाया गया था। हालांकि पाकिस्तान ने ऐसी किसी कार्रवाई से साफ इनकार किया था।

इसके बाद, मंगलवार को पाकिस्तानी मीडिया में एक वीडियो सामने आया जिसमें दावा किया गया था किपाकिस्तानी सेना ने भारतीय पोस्ट उड़ाई हैं। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया, ‘‘नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी चौकी को नष्ट करने और एलओसी के पास आम लोगों पर पाकिस्तानी सेना द्वारा गोलीबारी किए जाने के भारतीय दावे गलत हैं।

भारतीय सेना ने पाकिस्तान द्वारा भारतीय पोस्ट नष्ट करने के वीडियो को फर्जी बताया है। सेना का साफ कहना है कि भारतीय पोस्टो को एचवी दीवारें इतनी मोटी हैं कि रीकॉइलेस गन की फायरिंग आसानी से झेल सकती हैं। एएनआई ने सेना के सूत्रों के हवाले से कहा है कि जो धमाका पाक सेना के वीडियो में दिखाया गया है, वैसा आईईडी से किए गए धमाकों में होता है, आर्टिलरी फायर से नहीं।

सेना के मुताबिक, वीडियो में साफतौर पर छेड़छाड़ के निशान दिख रहे हैं। गौरतलब है कि भारतीय सेना ने सोमवार (22 मई) को एक वीडियो जारी किया था जिसमें कश्‍मीर के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी पोस्ट तबाह करते दिखाया गया था। हालांकि पाकिस्तान ने ऐसी किसी कार्रवाई से साफ इनकार किया था।

इसके बाद, मंगलवार को पाकिस्तानी मीडिया में एक वीडियो सामने आया जिसमें दावा किया गया था किपाकिस्तानी सेना ने भारतीय पोस्ट उड़ाई हैं। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया, ‘‘नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी चौकी को नष्ट करने और एलओसी के पास आम लोगों पर पाकिस्तानी सेना द्वारा गोलीबारी किए जाने के भारतीय दावे गलत हैं।

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .