अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है।

यह मुद्दा भले ही सुप्रीम कोर्ट में हो लेकिन चुनावी मौसम में रोज इस मसले पर बयानबाजी हो रही है।

बीजेपी पर हमला बोलते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा है कि भगवान राम भी नहीं चाहेंगे कि किसी विवादास्पद स्थल पर उनका मंदिर बने।

बुधवार को एक कार्यक्रम में बोलते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि अजीब बात है। जब चुनाव आता है भगवान राम के मंदिर निर्माण की बात सामने आती है।

भगवान राम का मंदिर बने इसमें किसी को ऐतराज नहीं है। हम सब चाहते हैं, लेकिन भगवान राम भी नहीं चाहेंगे कि किसी विवादास्पद स्थल पर उनका मंदिर बने।

उन्होंने कहा कि ये भी आश्चर्य की बात है कि सरकार कहती है कि अदालत का फैसला मानेंगे। उत्तर प्रदेश सीएम कहते हैं, राम जी की इच्छा होगी तो मंदिर बनेगा और सरकार के कर्ता-धर्ता कहते हैं कि अध्यादेश निकालिए। केवल भगवान राम के मंदिर को विवादास्पद बनाना इन लोगों का लक्ष्य है।

दिग्विजय सिंह यह बात कहा और किस संदर्भ में बोल रहे हैं, अभी इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। हाल ही में उनका एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो कहते हुए नजर आ रहे थे कि वो इस बार पार्टी के लिए चुनाव प्रचार नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा था कि मेरे प्रचार करने से पार्टी का वोट कटता है। ऐसे में यह जानना दिलचस्प होगा कि सिंह ने बयान किसी रैली से दिया है या किसी अन्य कार्यक्रम से।

राम मंदिर का मुद्दा अभी सुप्रीम कोर्ट है। जनवरी से इस मामले पर सुनवाई शुरू होने वाली है। लेकिन चुनावी मौसम में राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर से जोर पकड़ रहा है। योगी आदित्यनाथ अपनी सभी रैलियों में भगवान राम और राम मंदिर का जिक्र कर रहे हैं।

बुधवार को ही छत्तीसगढ़ में चुनाव प्रचार करते हुए उन्होंने कहा था कि जो राम का नहीं, वह किसी काम का नहीं।

इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा था कि अयोध्या में मर्यादा पुरुषोतम भगवान श्रीराम के मंदिर मिर्माण में सबसे बड़ी बाधा कांग्रेस है।