Home > India > खनिज माफिया के खिलाफ जिला बदर की पहली कार्यवाही

खनिज माफिया के खिलाफ जिला बदर की पहली कार्यवाही

Illegal Sand Mining Mafia news at teznews.comबैतूल : प्रदेश के इतिहास में यह पहला मौका है जब खनिज माफिया पर नकेल कसने बैतूल के अतिरिक्त कलेक्टर ने एक महिला समेत आठ खनिज माफिया को आदतन अपराधी मानते हुए जिला बदर की कार्यवाही प्रस्तावित कर कलेक्टर के पास भेजा है ।
खनिज विभाग के सूत्रो से मिली जानकारी के मुताबिक बीते वर्षो में खनिज विभाग द्वारा जिन लोगों पर अवैध माइनिंग और परिवहन के प्रकरण बने थे जिन्हें जुर्माना के लिए अपर कलेक्टर पवन जैन के के समक्ष प्रस्तुत किया गया था ।

इन प्रस्तवित प्रकरणों में श्रीमती सुमित्रा बाई ग्राम झगड़िया,पन्ना लाल साहू आठनेर,दिलीप कवडे अनका वाड़ी,स्वरूप चढोकार,कन्हैया लाल मालवी,रवि राठौर,बसंत यादव,श्याम कैलोनिया,छोटू वाघ शामिल है ।सभी लोगों पर दो से अधिक प्रकरण होने पर प्रतिबंधित कार्य वाही करने के लिए 24 फ़रवरी को  अतिरिक्त कलेक्टर ने जिला खनिज अधिकारी एस पी पटेल अपनी अनुशंसा के कलेक्टर ज्ञानश्वर पाटिल के समक्ष प्रस्तुत करने को कहा ।

खनिज अधिकारी एस पी पटेल ने बताया की अवैध उत्खनन और परिवहन के प्रकरण जुर्माना लगा कर अतिरिक्त कलेक्टर पवन जैन के पास पहुंचाए गए थे जिन पर उन्होंने ऐसे प्रकरण सूची बद्ध करवाये जिन्हें दो से अधिक बार माइनिंग की टीम ने पकड़ा हो हमने सभी प्रकरण प्रस्तुत कर दिए जिनमे अतिरिक्त कलेक्टर ने निर्णय लेते हुए अपनी अनुशंषा के साथ कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत करदिये है ।

जानकारों की माने तो खनिज में ऐसा कोई नियम नहीं है की प्रतिबंधित कार्यवाही करने या जिला बदर करने की कार्यवाही की जासके ।खनिज कानून में अधिकतम जुर्माना किया जा सकता है लेकिन अतिरिक्त कलेक्टर ने खनिज माफिया पर रोक लगाने यह कार्यवाही प्रस्तुत की है ।

महिला को किया मुक्त ।
जिला बदर की इस पूरी कार्यवाही में शामिल एक मात्र महिला सुमित्रा बाई का प्रकरण वापस भेज दिया गया है क्योंकि वह महिला है ।बाकी आठ प्रकरण कलेक्टर के पास विचाराधीन है ।
भाजपा नेता को भी किया बाहर ।
आठनेर क्षेत्र के भाजपा युवा नेता कृषणा गायकी का भी इस सूची में नाम था लेकिन बैतूल विधायक के चर्चो की वजह से इन्हें जिले से बाहर करने की बजाय सूची से बाहर कर दिया है । रिपोर्ट @ अकील अहमद

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com