madhya pradeshभोपाल- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मध्य प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव को पेसा (पंचायत एक्सटेंशन इन शेड्यूल्ड एरियाज) पुरस्कार दिया। यह पुरस्कार एमपी को आदिवासी क्षेत्रों में किए गए अच्छे कार्यों की बदौलत मिला है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुरस्कार मिलने पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दीं।

पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव आज पंचायत दिवस के अवसर पर पुरस्कार लेने झारखंड के जमशेदपुर पहुंचे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पुरस्कार लिया। अनुसूचित क्षेत्रों में पंचायत राज को मजबूत करने के लिए मध्यप्रदेश में तीन अलग-अलग आयाम में विशेष प्रबंध कर काम कराए गए। इनमें कोष, कार्यकलाप एवं कार्मिक प्रबंधन शामिल है।

खेती जमीन का विस्तार
पंचायत का दूसरा आधार स्तंभ है यहां के कार्यकलाप। प्रदेश में वन अधिकार और रोजगार गारंटी कानून को केन्द्र में रखकर भूमि सुधार और खेती की जमीन के विस्तार के काम भी बड़े पैमाने पर हुए हैं। इसके अलावा भूमि और जल-प्रबंधन, लघु सिंचाई, वाटर शेड विकास के काम मनरेगा से करवाये गए हैं।

सेवाओं में गुणात्मक सुधार
पंचायतों की सफलता का तीसरा स्तंभ-कार्मिक प्रबंध हैं। प्रदेश में पंच-सरपंच, पंचायत सचिव, शिक्षक, पटवारी, सेल्समेन, बीट गार्ड आदि की कार्यप्रणाली में गुणात्मक रूप से बुनियादी सुधार किए गए हैं। लोक सेवा गारंटी योजना का इसमें महत्वपूर्ण योगदान हैं।

Madhya Pradesh latest Hindi News Update