Home > India News > महाकाल की शाही सवारी, अनेक रूपों में देंगे दर्शन

महाकाल की शाही सवारी, अनेक रूपों में देंगे दर्शन

Demo-Pic

Demo-Pic

उज्जैन- श्रावण-भादौ मास में सोमवार को भगवान महाकाल की शाही सवारी निकलेगी। अवंतिकानाथ रजत पालकी में चंद्रमौलेश्वर, हाथी पर मनमहेश, गरूढ़ पर शिवतांडव, नंदी पर उमामहेश, रथ पर होलकर व सप्तधान तथा हाथी पर मनमहेश रूप में सवार होकर भक्तों को दर्शन देने निकलेंगे।

शाम 4 बजे शाही ठाठबाट के साथ राजा की पालकी नगर भ्रमण के लिए रवाना होगी। 7 किलोमीटर लंबे सवारी मार्ग पर 7 घंटे भक्ति का उल्लास छाएगा। नाथ के स्वागत में अवंतिकावासी उमड़ेंगे।

इससे पूर्व मंदिर की परंपरा अनुसार संभागायुक्त रवींद्र पस्तौर भगवान के चंद्रमौलेश्वर रूप का पूजन करेंगे। इसके पश्चात सवारी महाकाल घाटी, गुदरी, बक्षीबाजार, कहारवाड़ी होते हुए पालकी रामघाट पहुंचेगी।

यहां शिप्रा के जल से भगवान का अभिषेक पूजन पूजन होगा। पश्चात सवारी रामानुजकोट, गणगौर दरवाजा, कार्तिकचौक, जगदीश मंदिर, ढाबारोड, टंकी चौराहा, मिर्जा नईम बेग मार्ग, बड़ा तेलीवाड़ा, कंठाल, सतीगेट, छत्रीचौक, गोपाल मंदिर, पटनी बाजार होते हुए रात करीब 10 बजे मंदिर पहुंचेगी।

पुलिस के दो बैंड रहेंगे शाही सवारी में पुलिस के दो बैंड तथा सशस्त्र बल की दो टुकड़ी शामिल रहेंगी। एक बैंड तथा एक टुकड़ी सवारी में सबसे आगे चलेगी। दूसरा दल भगवान महाकाल की पालकी के साथ चलेगा।

यह रहेगी यातायात व्यवस्था

– सोमवार को शाही सवारी के लेकर यातायात पुलिस ने शहर की यातायात व्यवस्था को लेकर नई व्यवस्था लागू की है।

– इंदौर, देवास, मक्सी की ओर से आने वाले वाहन नृसिंह घाट पर पार्क होंगे।

– महाकाल मंदिर दर्शन करने वाले वीवीआईपी व वीआईपी के वाहन चारधाम पर पार्किंग होंगे।

– बड़नगर, रतलाम, आगर, उन्हेल, नागदा, खाचरौद की ओर से आने वाले वाहन कार्तिक मेला ग्राउंड पर पार्किंग किए जाएंगे।

– फ्रीगंज की ओर से आने वाले वाहन क्षीरसागर पर पार्क किए जाएंगे।

– महाकाल घाटी, दौलतगंज, नरेंद्र टॉकीज चौराहा, कंठाल, बुधवारिया, तेलीवाड़ा चौराहा, भार्गव मार्ग, सिंहस्थ द्वार, दानीगेट, हरसिद्धि मंदिर चौराहा, बिलोटीपुरा सहित अन्य क्षेत्रों में सभी वाहन प्रतिबंधित होंगे।






Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com