Home > India > तृप्ति देसाई की मंदिर के बाद हाजी अली दरगाह में जाने की मांग

तृप्ति देसाई की मंदिर के बाद हाजी अली दरगाह में जाने की मांग

File-Photo

File-Photo

मुंबई- शनि शिंगणापुर और त्रयंबकेश्वर मंदिर में महिलाओं को पूजा का हक दिलाने वाली तृप्ति देसाई ने अब नई मुहिम शुरू करते हुए कई महिला संगठन अब हाजी अली दरगाह में महिलाओं को जाने देने की मांग कर रही हैं ! तृप्ति देसाई के संगठन भूमाता ब्रिगेड औऱ कई संगठनों ने मिलकर हाजी अली सबके लिए नाम से फोरम बनाया है ! तृप्ति देसाई का कहना है कि हर धार्मिक स्थल पर महिलाओं को पूजा का अधिकार होना चाहिए !

आपको बता दें कि 2012 से महिलाओं को हाजी अली दरगाह में जाने की इजाजत नहीं है और इसी के विरोध में भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन संगठन ने वाघिनी महिला संगठन के साथ मिलकर मुंबई के आजाद मैदान में धरना दिया है ! मुस्लिम महिलाओं का ये धरना इस तरफ इशारा था कि अगर हिंदू महिलाएं शनि शिंगणापुर मंदिर में प्रवेश के लिए लड़ाई लड़ सकती हैं तो वो भी दरगाहों में प्रवेश की मांग के लिए लड़ाई लड़ने को तैयार हैं ! भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन (बीएमएमए) की नूर जहां नियाज ने कहा कि हाजी अली दरगाह में महिलाओं का प्रवेश रोकना इस्लाम और संविधान के खिलाफ है। वहीँ वाघिनी महिला संगठन की नेता ज्योति वेडेकर ने कहा कि महिलाओं को हर समय अपमान सहन करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि हिंदू हो या मुस्लिम सभी धर्म की महिलाओं को इबादत और पूजा का अधिकार मिलना चाहिए।

दूसरी तरफ हाजी अली दरगाह के न्यासियों के मुताबिक पुरुष मुस्लिम संत की मजार के बहुत निकट महिलाओं का प्रवेश इस्लाम के अनुसार ‘गंभीर गुनाह’ है और यह संवैधानिक कानून और खासकर संविधान के अनुच्छेद 26 से संचालित होता है जो न्यास को अपने धार्मिक मामलों के प्रबंधन का मौलिक अधिकार देता है। इस मसले पर किसी तीसरे पक्ष का इस तरह का हस्तक्षेप अनुचित है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com