पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी की नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर करारा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि बीजेपी, आएसएस के साथ मिलकर लोगों के बीच ‘तालिबान’ बना रही है. ममता ने कहा कि दोनों संगठनों में कुछ अच्छे लोग भी हैं, जिनका वह सम्मान करती हैं ।

कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की वार्षिक रैली में ममता ने कहा, ‘वह लोग जिनके हाथ सांप्रदायिक हिंसा के खून में रंगे हैं, वह देश चला रहे हैं.’ इसके साथ ही उन्होंने लोगों को सलाह दी कि वो बीजेपी के अहंकार, धमकी और गलत प्रचार का शिकार ना हों ।

बीजेपी पर हमला जारी रखते हुए बनर्जी ने कहा, ‘जो कायदे से एक पंडाल से नहीं बना सकते. वह देश को बनाना चाहते हैं.’ ममता यहां दरअसल मिदनारपुर में हुई पीएम मोदी की रैली के संबंध में यह बात कह रही थीं, जिसमें पंडाल गिर गया था ।
ममता ने कहा कि उनकी पार्टी 15 अगस्त से ‘बीजेपी हटाओ, देश बचाओ’ कैंपेन शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी और RSS में कुछ अच्छे लोग भी हैं, जिनका मैं सम्मान करती हूं, लेकिन कुछ लोग गांदा खेल-खेल रहे हैं। देश भर में हर जगह लिंचिंग हो रही है, वह लोगों को तालिबानी बना रहे हैं।

वह लोग जिनके हाथ सांप्रदायिक हिंसा के खून में रंगे हैं, वह देश चला रहे हैं।’ यह बात शनिवार को तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की वार्षिक रैली के दौरान केंद्र पर हमलावर हुईं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कही। उन्होंने कहा कि बीजेपी, RSS के साथ मिलकर लोगों को ‘तालिबानी’ बना रही है।

रैली के दौरान ममता ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मिदनापुर रैली पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ‘जो कायदे से एक पंडाल नहीं बना सकते, वह देश को बनाना चाहते हैं।’ उन्होंने लोगों को सलाद दी कि ‘वो बीजेपी के अंहकार, धमकी और गलत प्रचार का शिकान ना हों।’

ममता ने आगे कहा कि उनकी पार्टी 15 अगस्त से ‘बीजेपी हटाओ, देश बचाओ’ कैंपेन शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी और RSS में कुछ अच्छे लोग भी हैं, जिनका मैं सम्मान करती हूं, लेकिन कुछ लोग गांदा खेल-खेल रहे हैं। देश भर में हर जगह लिंचिंग हो रही है, वह लोगों को तालिबानी बना रहे हैं।

बनर्जी ने पहले कहा था कि उनकी पार्टी विपक्ष की एकता के हित में केंद्र के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में है और तृणमूल ने अपने लोकसभा सांसदों को सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप भी जारी किया था ।

इसी रैली में बीजेपी के पूर्व राज्यसभा सदस्य चंदन मित्रा और पश्चिम बंगाल विधानसभा के चार कांग्रेसी विधायक सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए. कांग्रेस विधायक समर मुखर्जी , अबु ताहिर , सबीना यास्मीन और अखरूजमां तृणमूल में शामिल हो गए. चंदन मित्रा ने कुछ दिन पहले ही बीजेपी से इस्तीफा दिया था. तृणमूल की वार्षिक शहीद दिवस रैली के दौरान ये लोग पार्टी में शामिल हुए ।