Home > Crime > देवर भाभी के थे अवैध संबंध, पति को पता चला तो

देवर भाभी के थे अवैध संबंध, पति को पता चला तो


डूंगरपुर : राजस्थान के डूंगरपुर जिले में एक द‌िल दहला देने वाला मामला सामने अाया है। यहां अवैध संबंधाें के चलते खफा भाई ने अपने ही छोटे भाई की हत्या कर दी।

पुलिस निरीक्षक रामेश्वर भाटी ने बताया कि गत अप्रेल माह में कराड़ा तालाब के कुएं में कराड़ा निवासी राजेश उर्फ राजू पुत्र कचरुलाल यादव का शव मिला था। इसको लेकर समाज और गांव वालों की ओर से लगातार खुलासा करने का दबाब बनाया जा रहा था।

कार्यवाहक पुलिस अधीक्षक नितेश आर्य एवं उपाधीक्षक अनिल मीणा के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक भाटी, चीतरी थानाधिकारी अजयसिंह, एएसआई चन्दनसिंह, हेड कांस्टेबल सुरेश भोई, कांस्टेबल केपी सिंह, कान्तिलाल, धुलजी की टीम का गठन किया।

पांच मिनट के खेल में खुलासा

अनुसंधान के दौरान इसके भाई कांतिलाल ने बताया कि घटना के दिन राजू गडा कुम्हारिया से कराड़ा आया था और मात्र पांच मिनट रुकने के बाद वह चला गया था।

इस बारे में पुलिस ने पड़ताल की तो कहीं से भी इसके घर आने और जाने की पुष्टि नहीं हुई। वहीं मृतक के घर के पास तालाब में बने कुंए से लाश मिलना परिवारजनों को संदेह के घेरे में डाल रहा था।

कड़ी पूछताछ की तो कबूली वारदात

इसी दौरान मुखबिर की सूचना में प्रेम संबंध का खुलासा हुआ। इस पर मृतक के बड़े भाई कराड़ा निवासी कान्तिलाल पुत्र कचरुलाल यादव को थाने लाकर कड़ी पूछताछ की गई। इस पर कान्तिलाल ने अपनी पत्नी के अवैध संबंध राजेश के साथ होना बताया।

इसी के चलते तालाब की पाल के पास बने कुंए के पास राजेश की हत्या कर हाथ एवं जूतों की लैंस बांध कर शव को कुएं में फेंकना स्वीकार किया। पुलिस ने कान्तिलाल को गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ जारी है।

यह था मामला

कराड़ा तालाब के कुंए में कपड़े धोने के दौरान महिला को तालाब के कुंए में शव तैरता मिलने पर अपने घर जानकारी दी। शव की पहचान कराड़ा निवासी राजेश पुत्र कचरु यादव के रूप में की गई थी।

शव के दोनों हाथ पीछे से ट्यूबवेल की पीली प्लास्टिक रस्सी से बंधे हुए थे तथा पांव में पहने शूज के फीते आपस में बंधे हुए थे। कपाल पर चोट का तथा बायीं आंख के नीचे खरोंच का निशान था।

मृतक की पत्नी पर जताया था संदेह

मृतक के अन्य भाई केशवलाल ने हत्या का मामला दर्ज कराया था। इसमें उसने मृतक की पत्नी राधा, गड़ा कुम्हारिया निवासी नीरा पुत्री रूपजी एवं पिण्डावल निवासी लीलाराम पुत्र भगवान के अलावा मोबाइल में मिले फोन नम्बर वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।

ऐसे में पुलिस शुरुआत में इसी दिशा में जांच कर रही थी। यहां कुछ नहीं मिला तो जांच की दिशा बदली और हत्या का खुलासा हो गया।

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .