Home > India News > मंदसौर : गुस्साई भीड़ ने पहले डीएम फिर एक रिपोर्टर को पीटा

मंदसौर : गुस्साई भीड़ ने पहले डीएम फिर एक रिपोर्टर को पीटा

मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसानों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा। मंगलवार को पुलिस की गोलीबारी में 5 किसानों की मौत हो जाने के बाद आंदोलनकारी भीड़ और भड़क गई। बुधवार को भीड़ ने प्रदर्शनकारियों का समझाने पहुंचे जिलाधिकारी स्वतंत्र कुमार सिंह की पिटाई कर दी और पुलिस अधीक्षक ओ. पी. त्रिपाठी के साथ भी बदसलूकी की। इसके अलावा एक न्यूज चैनल के कैमरामैन व रिपोर्टर के साथ भी हाथापाई की गई है। भीड़ ने कई वाहनों को आग के हवाले भी किया है। बता दें पुलिस की गोलीबारी में मंगलवार को पांच लोग मारे गए थे, जिनमें एक छात्र अभिषेक पाटीदार भी था। उसके शव के साथ ग्रामीण और किसान बरखेड़ा पंत गांव की सड़क पर चक्का जाम किए हुए हैं। उनकी मांग है कि मृतक को शहीद का दर्जा दिया जाए।

जिलाधिकारी स्वतंत्र कुमार सिंह व पुलिस अधीक्षक ओ. पी. त्रिपाठी मौके पर पहुंचे और चक्काजाम कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश की, मगर भीड़ ने उन्हें घेर लिया। हालात बिगड़ते देख दोनों अफसरों ने वहां से निकलने की कोशिश की। वे भीड़ के बीच से भाग रहे थे तभी पीछे से लोगों ने जिलाधिकारी के सिर पर थप्पड़ जड़ दिए। वहीं पुलिस अधीक्षक से भी बदसलूकी की गई। दोनों अधिकारी किसी तरह सुरक्षित बच निकलने में सफल हुए। जिलाधिकारी सिंह ने पुलिस द्वारा गोलीबारी किए जाने से इंकार किया है और कहा कि उन्होंने गोलीबारी के आदेश नहीं दिए थे।

नेताओं को नहीं मिली मंदसौर जाने की इजाजत:

मंदसौर जा रहे कई नेताओं को रास्ते में ही रोक दिया गया। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय सचिव मीनाक्षी नटराजन व विधायक जीतू पटवारी को नाहरगढ़ में हिरासत में ले लिया गया। नहीं, राहुल गांधी भी मंदसौर का दौरा कर सकते हैं।

मृतकों को 1 करोड़ रुपए का मुआवजा:

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंदसौर में हुई घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए पुलिस की गोलीबारी में जान गंवाने वाले किसानों के परिजनों को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है। इसके अलावा पीड़ित परिवार के एक सदस्य को योग्यता अनुसार सरकारी नौकरी दी जाएगी। मंगलवार की देर रात जारी बयान में मुख्यमंत्री ने मंदसौर में हुई घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि इस घटना से वह व्यथित हैं। उन्होंने घायलों को 5 लाख रुपये की सहायता और नि:शुल्क इलाज की भी घोषणा की है। इससे पहले चौहान ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान किया था।

@एजेंसी

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .