नई दिल्ली: कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने अयोध्या में राम मंदिर बनाए जाने पर विवादित बयान दिया है। बकौल मणिशंकर, राजा दशरथ एक बहुत बड़े राजा थे, उनके महल में 10 हजार कमरे थे, लेकिन भगवान राम किस कमरे में पैदा हुए ये बताना बड़ा ही मुश्किल है। ऐसे में आप किस आधार पर मंदिर वहीं बनाने की बात करते हैं।

अय्यर दिल्ली में केरल के एक कट्टरपंथी संगठन द्वारा आयोजित ‘एक शाम बाबरी मस्जिद के नाम’ कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने बाबरी मस्जिद गिराने की घटना को संविधान की हत्या करार दिया है।

अय्यर ने बाबरी मस्जिद गिराए जाने को लेकर कांग्रेस को भी कठघरे में खड़ा किया और कहा कि उस वक्त केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी। अगर पार्टी चाहती तो 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद ना गिरती।

अय्यर ने महात्मा गांधी की शहादत और बाबरी मस्जिद के गिरने को एक जैसा बताते हुए कहा कि क्या मुसलमान इस देश में सुरक्षित रह सकते हैं? दिल्ली के गालिब इंस्टीट्यूट में आयोजित इस कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव भी मौजूद रहे।