crane falls on Makkah's Grand Mosqueसऊदी अरब के मक्का की मुख्य मस्जिद में शुक्रवार को एक क्रेन के गिरने से 107 लोगों की मौत हो गई है और 230 से ज्‍यादा लोग घायल हो गए हैं। भारतीय विदेश मंत्रालय के मुताबिक हादसे में 2 भारतीय की मौत हो गई है, वहीं 15 घायल हुए हैं। हादसा उस वक्त हुआ जब अल हरम मस्जिद की छत पर एक क्रेन गिर गई।

मक्का में अधिकारियों का कहना है कि तेज़ बारिश और हवाओं की वजह से क्रेन मस्जिद की छत तोड़ते हुए अंदर घुस गई। मक्का इस्लाम धर्म मानने वालों के लिए सबसे पवित्र स्थान है। दुनिया भर से लोग मक्का की इस पाक मस्जिद में आते हैं। ये हादसा ऐसे समय में हुआ है, जब हज यात्रा के लिए यहां तैयारियां चल रही हैं। हज यात्रा 21 से 26 सितंबर के बीच होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया है।

वहीं, राष्ट्रपति मुखर्जी ने ट्वीट किया, ‘मैं मक्का में क्रेन दुर्घटना के कारण मारे गए लोगों के परिजन के प्रति दिल से संवेदना प्रकट करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’ उपराष्ट्रपति के कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में बताया गया कि अंसारी ने मक्का की ग्रैंड मस्जिद में हुई दुर्घटना पर गहरा दु:ख प्रकट किया है, जिसमें कई लोग हताहत हुए हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, ‘जेद्दा में हमारा वाणिज्य दूतावास इस भयावह हादसे के बाद मक्का में हालात पर नजर रख रहा है। हमने खबरें देखी हैं कि 9 भारतीय घायल हुए हैं।’ उन्होंने कहा कि ‘हमारे काउंसल जनरल समेत सभी बड़े अधिकारी मौक़े पर मौजूद हैं. भारतीय डॉक्टरों को सभी सरकारी अस्पतालों में भेज दिया गया है।’

पिछले साल सऊदी सल्तनत ने मुख्य मस्जिद परिसर को बढ़ाने के लिए जारी निर्माण कार्य का हवाला देते हुए सुरक्षा कारणों से हाजियों की संख्या घटा दी थी। सउदी अरब प्रशासन बड़ी संख्या में आने वाले हज यात्रियों की सुविधा और उनकी आवाजाही के लिए परिवहन तथा अन्य बुनियादी ढांचे संबंधी सुविधाओं के इंतजाम पर खर्च करता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here