Home > Crime > शव को दफनाने के 24 घंटे बाद कब्र से निकलवाया !

शव को दफनाने के 24 घंटे बाद कब्र से निकलवाया !

Mewat haryana newsमेवात– नूंह खंड के घासेडा गांव में शव को दफनाने के 24 घंटे बाद शनिवार की सुबह एक नाबालिग लडकी के कब्र से निकाला गया। लडकी के परिजनों ने पहले तो इसे आत्महत्या मानकर दफना दिया, बाद में मृतक लडकी के पिता के ब्यान पर गांव के मौजूदा सरपंच की शय पर लडकी का अपहरण करने, सामूहिक बलात्कार करने और सबूत मिटाने के लिए जान से मारने का आरोप लगाते उसके दो भतीजों के खिलाफ इस बारे में पुलिस अधीक्षक को दरखास्त दी और शव को निकालकर पोस्टमार्टम कराने की अपील की। जिला प्रशासन व पुलिस की निगरानी में निकाले गए इस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।


प्राप्त जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की सुबह घासेडा गांव की एक 15 वर्षीय लडकी का शव पडोसी के घर में शौचालय के पास खूंटी से लटका मिला। ग्रामीणों व परिजनों ने इसे आत्महत्या समझकर सुबह करीब 10 बजे दफना दिया। लेकिन शाम को करीब 7 बजे परिजनों ने पुलिस अधीक्षक को दरखास्त दी कि उनकी लडकी की बलात्कार कर हत्या की गई है, इसलिए शव का निकाला जाए और पोस्टमार्टम कराया जाए। इसके लिए पुलिस की मांग पर उपायुक्त ने एक कमेटी गठित की जिसमें नूंह के तहसीलदार बस्तीराम को ड्यूटी मजिस्ट्रेट तैनात किया गया तथा पुलिस उपअधीक्षक आशीष चौधरी व डाक्टर को उसमें शामिल किया गया। जिसने फैसला लिया कि शव को शनिवार की सुबह निकाला जाएगा। इधर कब्र के साथ कोई छेडछाड न हो, इसके लिए पुलिस रात में ही तैनात कर दी गई। शनिवार को टीम की निगरानी व भारी पुलिस बल की मौजूदगी में करीब 10 बजे शव को निकाला गया और पोस्टमार्टम के लिए ले मांडीखेडा के अल-आफिया अस्पताल भेज दिया गया है।

मां की हालत बिंगडी
जैसे ही लडकी की मां को पता चला कि उसकी बेटी ने आत्म हत्या कर ली है। उसके बाद से ही उसकी तबियत खराब हो गई है। वह बार बार बेहाश हो रही है। डाक्टर उसका इलाज में लगे हुऐ। आज सुबेह जब उसे पता चला कि उसकी बेटी का मर्डर किया गया और से कब्र से निकाला जा रहा है। वह बार-बार बेहाश हो रही है।

क्या कहती है लडकी की मां
मृतक लडकी की मां का कहना है कि उसका पति जाहिद मजदूरी करता है और उसके 6 बच्चे हैं। वह 21 अप्रैल की शाम अपने घर ही थी अचानक पडौस के ही दो लडके घर आये उन्होने न जाने क्या सुगाया वह बेहोश हो गई। वह उनको शकल से जानती है। उसके बाद आरोपी उसकी लडकी का अपहरण कर ले गये। पीडित महिला का कहना है कि आरोपियों को कडी से कडी सजा मिलनी चाहिये।

क्या कहते है लडकी के ताऊ
मृतका के ताऊ खुशी मोहम्मद उर्फ खुशीला ने बताया कि उसके भाई की लडकी के साथ आरोपी लडके एक-दो बार पहले भी बलात्कार कर चुके हैं, लेकिन समाज में बदनामी के डर से इस बात को दबा दिया गया था। बृहस्पतिवार की रात लडकी के माता-पिता को नींद की गोलियां खिलाकर ये लडके उस लडकी को उठाकर ले गए। जब उन्हें इस बारे में पता चला तो वे 4 बार सरपंच व उसके भाईयों के पास अपनी लडकी लेने के लिए गए। लेकिन उन्होंने लडकी उनके पास न होने की बात कही। पांचवीं बार जब वे गए तो उन्होंने स्वीकार किया कि लडकी उनके पास है और तुम्हारे घर चली जाएगी। तुम घर से इधर-उधर हो जाओ, लडकी शर्म के कारण घर नहीं जा रही हैं। इस पर वे पडोसियों के वहां जा बैठे और रातभर इंतजार किया। सुबह उन्हें सूचना मिली कि उनकी लडकी अल्लाबक्श के घर खूंटी से लटकी हुई है। जाकर लडकी को उतारा गया और देखा कि उस लडकी के पैर जमीन पर मुडे हुए थे। क्योंकि वह खूंटी जमीन से ज्यादा ऊंची नहीं थी। उसे हादसा समझकर दफना दिया गया। उन्होंने कहा कि उनकी सरपंच से कोई राजनीतिक दुश्मनी नहीं है, क्योंकि सरपंच उनके परिवार व बिचोंदिया मोहल्ले से ही हैं। जबकि जिसके घर शव मिला वह दूसरे परिवार व घंग मोहल्ले का हैं

क्या कहते से पूर्व सरंपच


वहीं गांव के पूर्व सरंपच असद खान का कहना है कि इस मामले की गहराई से जांच होनी चाहिये और जो भी दोशी हो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाही हो। उन्होने कहा कि लडकी के शव को दूसरे घर में डाल देने का मकसद है कि दूसरे लोगों को झूंठा फंसाया जा सके। उन्होने कहा कि मामले में गहरी शाजिश के तहत पहले लडकी की इज्जत लूटी, फिर उसकर हत्या कर दी गई और गरीब लोगों पर दवाब बनाकर बिना पुलिस को सूचना दिये दफना दिया गया। ये सब दवाब में लिया गया एक फैंसला था।

सरपंच ने कहा आरोप निराधार:
घासेडा गांव के मौजूदा सरपंच अशरफ अली ने सभी आरोपों को निराधार व राजनीति से प्रेरित बताया। उसने कहा वह गांव में लगातार 3 योजनाओं से सरपंच बनता आ रहा है। लडकी के ताऊ खुशी मोहम्मद ने दो बार उसके खिलाफ चुनाव लडा हैं। इस घटना से उसका व उसके परिवार का कोई लेना-देना नहीं है, उन्होंने सच सामने आए, इसके लिए निष्पक्ष जांच की मांग की हैं।

क्या कहते हैं डीएसपी
आशीष चौधरी, डीएसपी मुख्यालय नूंह ने बताया कि नूंह थाने में लडकी के पिता के शिकायत के आधार पर गांव के ही आदिल पुत्र अलीम व अकरम पुत्र अलीशेर को नामजद किया गया है तथा षडयंत्र रचने के आरोप में अज्ञात के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया हैं। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद जांच को आगे बढाया जाएगा और दोषियों के खिलाफ कडी कार्यवाई की जाएगी। @यूनुस अल्वी




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com